लालू प्रसाद का बड़ा हमला- ‘मैं चोर होता तो जेल नहीं बीजेपी में होता…’ तेजस्वी ने भी साधा निशाना

लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद भले ही इन दिनों जेल में हैं, लेकिन उनके कहने पर उनका ट्विटर एकाउंट लगातार जारी है. उन्होंने सोमवार को एक बार फिर ट्वीट कर विरोधियों पर कड़ा हमला किया है. उनका ट्विटर पोस्ट देखें तो एक ही लाइन का ट्वीट है, लेकिन इशारों ही इशारे में उन्होंने बीजेपी से लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर इस ट्वीट के माध्यम से हमला किया है. इसके अलावा उनके पुत्र व पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है.

बता दें कि चार दिनों की ताबड़तोड़ सुनवाई के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को चारा घोटाला मामले में साढ़े तीन साल की कैद की सजा सुनाई गई है. साथ ही 10 लाख का जुर्माना भी किया गया है. जुर्माना नहीं भरे जाने पर अलग से छह माह कैद की सजा भुगतनी होगी. चारा घोटाले के देवघर कोषागार से जुड़े मामले में रांची स्थित सीबीआई के स्पेशल कोर्ट ने यह सुनवाई की. इसके पहले 23 दिसंबर को उन्हें चारा घोटाला मामले में कोर्ट ने दोषी ठहराया था.

सोमवार को इसी चारा घोटाला को लेकर लालू प्रसाद ने ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि ‘लालू चोर होता तो जेल नहीं बीजेपी में होता…’ पॉलिटिकल कॉरिडोर में हो रही चर्चा के अनुसार इस एक लाइन के ट्वीट से उन्होंने कई निशाने लगाये हैं. केंद्र की भाजपा सरकार से लेकर बीजेपी में शामिल होने वाले नीतीश कुमार पर भी इशारों ही इशारे में तंज किये हैं.

गौरतलब है कि लालू प्रसाद दोषी ठहराये जाने के बाद जब जेल जा रहे थे, तभी उन्होंने यह कह दिया था कि मेरे ट्विटर एकाउंट को मेरे परिजन हैंडिल करेंगे. तब उन्होंने लिखा था- ‘प्रिय साथियों, कारागार प्रवास के दौरान मेरे ट्विटर हैंडल का संचालन मेरा कार्यालय और परिवार के सदस्य करेंगे. समय-समय पर मुलाक़ातियों के मार्फ़त कार्यालय को संदेश पहुंचेगा जो आपके पास ट्विटर या अन्य विधा से पहुंच जाएगा. संगठित रहिए, सचेत रहिए.’

उधर लालू प्रसाद के पुत्र व पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कड़ा हमला किया है. उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखा है कि ‘राजनीति में सबसे ज़्यादा पलटी मारने का अवॉर्ड होता तो किसे मिलता?’ इस हमले को आसानी से समझा जा सकता है कि उन​का निशाना बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर ही है, उन पर ही राजद से समेत पूरा विपक्ष पलटूराम का आरोप लगाता आ रहा है. यही पर वे नहीं रुके. तेजस्वी आगे लिखते हैं कि ‘सत्य की प्रतिज्ञा झूठ की परीक्षा से, ना कभी डरी है ना कभी डरेगी.’

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*