जदयू का नया हमला : ‘लालू किस मुंह से घोटाला की बात करते हैं’

SANJAY-SINGH
जदयू प्रवक्ता संजय सिंह (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद फिर करारा हमला किया है. जदयू के मुख्य प्रवक्ता व एमएलसी संजय सिंह ने शनिवार को बयान जारी कर कहा है कि ‘घोटालाराम’ यानी लालू प्रसाद किस मुंह से घोटाला की बात करते हैं ये समझ नहीं आता है. जो खुद हजार करोड़ के चारा घोटाले का सजायाफ्ता हो, वो कहे कि राज्य में घोटाला हो रहा है ये मजाक नहीं तो क्या है? ये वही बात है कि चोर मचाये शोर. लालू प्रसाद के सामने आज भी ये प्रश्न मुंह बाये खड़ा है कि आखिर 15 हजार करोड़ की सम्पति कहां से आई और इस अकूत सम्पति का स्रोत क्या है?

संजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार गबन और अनियमितता बर्दाश्त करने वाले व्यक्ति नहीं हैं. ये आप भी बखूबी जानते हैं. जिस समय सृजन मामला सामने आया तो सीएम नीतीश कुमार ने खुद जांच के आदेश दिए और उसे सीबीआई को सौंपा. धान मामले में भी सरकार खुद संज्ञान लिया और इसकी जांच शुरू की. नीतीश कुमार की सरकार सुशासन की है, यहां मामलों को दबाया नहीं जाता है. मामले में तुरन्त कार्रवाई होती है.

सुशील मोदी बोले – लालू प्रसाद अपने बेटे को समझाएं, शादी में जरुर आएं 

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि लालू प्रसाद की जानकारी के लिए बता दें कि सरकार ने 1676 मिल मालिकों पर इस धान की अनियमितता को लेकर एफआईआर किया. बिहार में टोटल मिलरों कि संख्या 2002 है. इनमें 1676 मिलरों पर एफआईआर दर्ज की गयी है. 1676 में से 1215 मिलरों पर प्राथमिकी दर्ज हुई है. इसी मामले में पीआईएल भी दायर किया गया था. नीतीश कुमार के शासन में कोई गड़बड़ी करके निकल जाए, ये संभव नहीं है.

जदयू का नया तंज : लालू नंबरी हैं, तो तेजस्वी 10 नंबरी बनने जा रहा है

उन्होंने लालू प्रसाद पर कमेंट करते हुए कहा कि पीआईएल सीबीआई जांच के लिए की गयी थी. लेकिन हाईकोर्ट ने इसे खारिज कर दिया. फिर सरकार सुप्रीम कोर्ट गयी, तो वहां भी केस को खारिज कर दिया गया. इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पांच स्पेशल कोर्ट गठित किया गया है, ये  गया, पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर और छपरा में स्पेशल कोर्ट गठित किये गये हैं. इस मामले में एक भी दोषी मिलरों को बख्शा नहीं जाएगा, ये सरकार का संकल्प है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*