जदयू की योगी को सलाह – काम कीजिए, इतिहास में मत फंसिये

पटना (नियाज आलम) : ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी नहीं होते तो आज पश्चिम बंगाल, पंजाब और जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान के हिस्से में होता.’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस बयान की जदयू ने कड़ी आलोचना की है. बिहार में सत्तारूढ़ जदयू ने योगी आदित्यनाथ को इस बयान पर घेरा है.

पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा है कि योगी आदित्यनाथ को इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि 1925 में अपनी स्थापना से लेकर देश की आज़ादी की लड़ाई में उसकी कोई भूमिका नहीं रही. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ मनोनीत मुख्यमंत्री हैं, जनता ने उन्हें नहीं चुना है. वह देश की आज़ादी के क्रांतिकारियों की भावनाओं के विपरित और महात्मा गांधी के नेतृत्व में चले आन्दोलनों में असहयोग की भूमिका निभाने वाली जमात के मुख्यमंत्री हैं.

NEERAJ-JDU

नीरज कुमार ने कहा कि भाजपा ने कश्मीर के हालात को राजनीति का एजेंडा बनाया और उसी की बदौलत देश जीत लिया. आज भी कश्मीर के हालात नहीं सुधर रहे हैं. कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास नहीं हो रहा है. अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले लोगों को रास्ते के लिए जमीन नहीं दिला पाए हैं लेकिन कश्मीर के बहाने देश के इतिहास की परंपरा को बदलना चाहते हैं.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को सलाह देते हुए नीरज कुमार ने कहा कि जनता ने काम करने का मौका दिया है, काम कीजिए. अगर इतिहास में फंसियेगा तो आपका इतिहास कलंकित हो जाएगा.

बता दें कि शुक्रवार को यूपी विधानसबा में राज्यपाल राम नाइक के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष को निशाने पर लिया था. उन्होंने कहा था कि अगर आरएसएस और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी नहीं होते तो आज पश्चिम बंगाल, पंजाब और कश्मीर पाकिस्तान के कब्जे में होता. देखें वीडियो –

 

इसे भी पढ़ें –

जदयू : क्या भाजपा कार्यकर्ताओं के बच्चों को सरकारी नौकरी मिल रही है?

मीसा का बड़ा सवाल : भाजपाईयों में ISI की दलाली व देह व्यापार के संस्कार आते कहां से हैं

अगलगी वाले GV Mall में भी लालू फैमिली की संपत्ति तलाश ली सुशील मोदी ने

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*