AK-47 मामले में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, मंजर का भांजा गिरफ्तार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के मुंगेर जिले से समाने आए AK-47 तस्करी के मामले में पुलिस कोे बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए मामले के मुख्य आरोपी मंजर आलम के भांजे को गिरफ्तार ​किया है. पुलिस ने उसके पास के गोलियां भी बरामद की है. बता दें कि पीछले 2 माह पूर्व यह मामला सामने आया था जिसमें मध्यप्रदेश से बिहार के मुंगेर में सेना के उपयोग से बाहर हो चुकी AK-47 राइफलों के पार्ट्स तस्करी किए जा रहे थे.

मंजर के भांजे को किया गिरफ्तार

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिहार के मुंगेर जिले में AK-47 तस्करी के मामले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने इस मामले में कार्रवार्इ् करते हुए मुख्य आरोपी मंजर आलम के मांजे को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस को उसके पास से 438 गोलियां भी बरामद की हैं. पुलिस ने आरोपी को शकरपुर में आईटीसी कॉलोनी से गिरफ्तार किया है. आपको बता दे कि इससे पहले पुलिस मुख्य व्यवस्था मंजर समेत अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर चुकी है.

AK-47.jpg-2
AK-47.jpg-2

मुंगेर से अब तक कुल 21 AK-47 बरामद हो गए. इस एक हथियार को जब्त करने के लिए, मुंगेर पुलिस कई दिनों से लगातार गिरफ्तारी कर रही थी. 19 अक्टूबर को जमुई पुलिस ने पटना से मो. रिजवान को गिरफ्तार किया. रिजवान के बयान के आधार पर सिपाही धर्मवीर कुमार, नारद यादव और वेदानंद यादव को हिरासत में लिया.

जबलपुर से मुंगेर होती थी हथियारों की तस्करी

हथियारों की मंडी के रूप में फेमस मुंगेर में देश के सबसे खतरनाक हथियार AK-47 मध्य प्रदेश के जबलपुर से तस्कर ला रहे थे और इस पर डबल मुनाफा कमा रहे थे. यह खुलासा तब हुआ, जब मुंगेर में फिर 12 AK-47 एक साथ बरामद हुए. तस्कर 4 लाख में AK-47 खरीदते थे और मुंगेर में 8 से 10 लाख में बेचते थे.

दरअसल पिछले माह ही यह बात सामने आ गयी थी कि जबलपुर से 70 से 80 AK-47 बिहार के मुंगेर जिले में मंगाए गए हैं. इसके बाद पुलिस के कान खड़े हो गये. दबिश बढ़ाई तो मुंगेर पुलिस को बड़ी सफलता जमालपुर में मिली. 7 सितंबर को जमालपुर के जुबली बेल के निकट 3 AK-47 के साथ पुलिस ने मो इमरान को गिरफ्तार किया गया. इसके बाद पुलिस को इसके जबलपुर से तार जुड़ने की बात सामने आयी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*