राबड़ी ने नीतीश सरकार को बताया भगवान भरोसे, बोलीं – खत्म हो चुका है लॉ एण्ड ऑर्डर

लाइव सिटीज, (देवांशु प्रभात) : बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमों लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने बिहार की नीतीश सरकार पर जोरदार हमला बोला है. आज बिहार विधानमंडल के शीतकालिन सत्र के पहले दिन यहा पहुंची पूर्व मुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. मीडिया के सामने बोलते हुए राबड़ी ने कहा कि बिहार की सरकार भगवान भरोसे है. यहां लॉ एण्ड ऑर्डर पूरी तरह से खत्म हो चुका है.

भगवान भरोसे सरकार

बिहार विधानमंडल के शीतका​लीन सत्र के पहले दिन आज विधानमंडल पहुंची राजद की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार की सरकार भगवान भरोसे है. राज्य में महिलाओं के प्रति अपराध और छोटी वच्चियों संग रेप की वारदाते हो रही हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में लॉ एण्ड आॅडर पूरी तरह से खत्म हो चुका है. एक्स सीएम ने कहा कि इस सरकार में मजदूरों और किसानों की स्थिति खराब है.

बेरोजगारी के मामले पर नीतीश कुमार की सरकार को घेरते हुए राबड़ी ने कहा कि बिहार में युवा रोजगार के लिए सड़कों पर भटक रहे हैं. भ्रष्टाचार के मामले पर नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए राबड़ी ने कहा कि इस सरकार में जिसकी सरकार में पहुंच और पैरवी होती है उसी को नौकरी मिलती है. उन्होंने कहा कि बिहार भगवान भरोसे चल रहा है फिर भी सरकार में बैठे लोग अपना ही गुणगान में लगे हैं.

इस दौरान उन्होंने राम मंदिर के मामलेे पर भी बीजेपी पर जोरदार हमला बोला. पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि राम मंदिर भाजपा का चुनावी मुद्दा है यह मुद्दा कोर्ट के समक्ष है. राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. लेकिन यह निर्माण सभी के सहमती से होना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि भजपा इस मुद्दे को चुनाव में बनाए रखना चाहती है. अगर सही में बीजेपी मंदिर निर्माण करना चाहती है तो हिम्मत है तो राम मंदिर बनाकर दिखाए.

पांच दिनों का है शीतकालीन सत्र

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा का शीतकालीन सत्र पांच दिनों का है. इस सत्र में कई मुद्दों को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है. इस सत्र में दो विधेयक, गैर सरकारी संकल्प और द्वितीय अनुपूरक बजट पेश होंगे. विपक्ष के तेवर से साफ है कि सत्र हंगामेदार होगा. आज शोक प्रस्ताव के बाद बैठक स्थगित हो गई.

इस छोटे सत्र में सरकार की कोशिश है कि कुछ महत्वपूर्ण बिल पारित हो जाएं. इस सत्र में जीएसटी से जुड़े विधेयक उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पेश करेंगे. सत्र के दूसरे दिन इसके अगले दिन सदन में दो विधेयक पेश होंगे. यहां जीएसटी विधेयक पारित होने के बाद संशोधन को स्थायित्व मिल जाएगा. फिलहाल यह अध्यादेश के जरिए राज्य में लागू है. अंतिम दिन शुक्रवार को गैर सरकारी संकल्प लिए जाएंगे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*