लाइव सिटीज पटना : पटना के पुलिस भवन में आयोजित PATNA IDEATHON 2018 के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने देश भर से आये Start Ups से जलवायु परिवर्तन, जल संरक्षण, कुपोषण, कृषि उत्पादकता आदि वैश्विक चुनौतिओं सेे नवाचार एवं नई तकनीकों द्वारा निबटने का आवाहन किया.

उन्होंने कहा कि कतिपय कारणों से देश तीन औद्योगिक क्रांतियों से लाभान्वित नहीं हो सका. उन्होंने चौथी औद्योगिक क्रांति में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लाॅक चेन, रोबोटिक्स, बिग डाटा आदि का उपयोग कर भारत को महत्वपूर्ण स्टेक होल्डर बनाने का आवाहन किया. नवाचार एवं उद्यमिता को 21वीं सदी का मूल मंत्र बताते हुए उन्होंने कहा कि इसका उपयोग गरीबी उन्मूलन में किया जाना चाहिए.

उपमुख्यमंत्री मोदी ने कहा कि राज्य सरकार पाटलिपुत्र, पटना STPI (Software Technology Parks of India) केंद्र के क्षमतावर्द्धन हेतु एक लाख वर्ग फीट अतिरिक्त कार्यक्षेत्र के निर्माण के लिए 26 करोड़ रुपए उपलब्ध करा रही है. भागलपुर एवं दरभंगा में STPI केंद्र की स्थापना हेतु 2-2 एकड़ भूमि निःशुल्क उपलबध करायी गई है. बीआईटी, पटना में आईटी इंक्यूबेशन सेंटर की स्थापना की जा रही है. आईआईटी, बिहटा में 30 हजार वर्गफीट में 47 करोड़ रुपए की लागत से Incubation Center का निमार्ण किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि बिहटा में आईटी पार्क एवं राजगीर में आईटी सिटी के लिए जमीन उपलब्ध करा दी गई है. बिहार के 300 से अधिक काॅलेजों में फ्री वाई-फाई की सुविधाएं दी जा रही है. 5000 से अधिक पंचायतें गांव ब्राॅडबैंड से जुड़ चुकी हैं. इस अवसर पर बिहार सरकार व विभिन्न कंपनियों के वरीय अधिकारीगण, आईआईएम, बोधगया के निदेशक, Start Ups, आईटी एक्सपर्टस, सूचना और तकनीक से जुड़े छात्र एवं अन्य लोग उपस्थित थे.