तेजस्वी के बंगले पर घरवालों ने साटा पोस्टर, खाली कराने गये जिला प्रशासन के अधिकारी असमंजस में

लाइव सिटीज डेस्क : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का बंगला मामला तूल पकड़ता जा रहा है. खाली कराने गये जिला प्रशासन के अधिकारी भी असमंजस में हैं. दरअसल तेजस्वी यादव के बंगले पर एक पोस्टर साटा हुआ है. उस पोस्टर पर साफ-साफ लिखा हुआ है कि ‘बंगला खाली कराने का मामला कोर्ट में है विचाराधीन’. इसके बाद से जिला प्रशासन के अधिकारियों को कुछ करते नहीं बन रहा है.

खास बात कि इस समय तेजस्वी यादव पटना में नहीं हैं. वे दिल्ली गए हुए हैं. हालांकि सूत्रों का कहना है कि वे आज ही दिल्ली से पटना पहुंचेंगे. इसके बाद उनक अगला कदम क्या होता है, वे ही बताएंगे. इसी बीच जानकारी के अनुसार बंगला खाली कराने की खबर के बाद वहां पर राजद कार्यकर्ताओं व अधिकारियों की भीड़ जुटने लगी है. मीडिया वाले भी पहुंच गये हैं.



इधर बताया जाता है कि बंगला खाली कराने की भनक मिलते ही आवास में रहनेवाले लोगों ने वहां पर एक पोस्टर साट दिया. इस पोस्टर पर साफ लिखा हुआ है कि ‘बंगला खाली कराने का मामला कोर्ट में विचाराधीन है’. ऐसे में जिला टीम के अधिकारियों की स्थिति किंकर्तव्यविमूढ़ वाली हो गयी है. वे ​सीनियर अधिकारियों के आदेश का इंतजार कर रहे हैं.

BIG BREAKING : तेजस्वी यादव का बंगला खाली कराने पहुंचा पटना जिला प्रशासन, सिक्योरिटी टाइट

बता दें किे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बंगला खाली कराने को लेकर आवास विभाग ने जिला प्रशासन को नोटिस दे रखा है. नोटिस में कहा गया है कि यदि तेजस्वी यादव खुद बंगला खाली नहीं करते हैं तो उसे जबरन खाली कराया जाए. इसके बाद बुधवार को डीएम कुमार रवि के आदेश पर जिला प्रशासन के अधिकारियों की टीम तेजस्वी के बंगले पर खाली कराने के लिए पहुंची है, लेकिन वहां सटे पोस्टर ने सब गड़बड़ कर दिया.

तेजस्वी यादव की ओर से आवास पर साटा गया पोस्टर

दरअसल नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के सरकारी बंगले 5, देशरत्न मार्ग को लेकर विवाद चल रहा है. पिछले साल आरजेडी के हाथों से बिहार में सत्ता जाने के बाद नीतीश सरकार के आवास विभाग ने तेजस्वी यादव को उप मुख्यमंत्री के तौर पर आवंटित बंगला खाली करने को कहा. सरकार ने तेजस्वी को नेता प्रतिपक्ष के रूप में 1, पोलो रोड का बंगला आवंटित किया. उस बंगले में फिलहाल उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी रहते हैं.

तेजस्वी यादव के आवास पर जुटी भीड़.