आपस में ही उलझ गए हैं रघुवंश प्रसाद सिंह और शिवानंद तिवारी, जारी है वार-पलटवार

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के जेल जाते ही बाहर में राजद नेताओं के बीच बहस छिड़ गई है. राजद के जिन वरिष्ठ नेताओं के बीच यह जंग छिड़ी है, वे हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री  रघुवंश प्रसाद सिंह और  शिवानंद तिवारी. दोनों अपने बयानों को लेकर ही आपस में भिड़ गए हैं. राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मुझे कुछ भी समझाने से पहले रघुवंश बाबू अपने खुद के बयान को देख लें, मैं अपने बयान पर आज भी कायम हूं. जेल में लगने लगी है लालू प्रसाद को अधिक ठंड, बार-बार पहुंच रहे हैं डॉक्टर देखने को 

शिवानंद तिवारी यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि अगर रघुवंश प्रसाद सिंह को कोई समस्या है तो उन्हें मुझसे बात करनी चाहिए. बता  दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा था कि कोर्ट तो सबूतों के आधार पर फैसला देता है और मैंने कभी भी जात-पात की बात नहीं की.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने ने आरोप लगाते हुए कहा कि सिर्फ इस फैसले के मद्देनजर न्यायपालिका में आरक्षण का मुद्दा बनाकर शिवानंद तिवारी गलत तर्क दे रहे हैं. न्यायपालिका में जात- पात की बात सही नहीं है, उसपर अंगुली नहीं उठानी चाहिए. शिवानंद बोले – दोषी की जाति वाले जज से ही फैसला कराने वाली बात मैंने नहीं कही 

बता दें कि सीबीआई की विशेष अदालत  ने अपने फैसले पर टिप्पणी करने को लेकर  राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, तेजस्वी यादव और मनोज झा के खिलाफ नोटिस जारी कर किया है और उन्हें जवाब तलब के लिए 23 जनवरी को पेश होने की बात कही है. लेकिन राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कोर्ट में आरक्षण की बात कह कर विवाद पैदा कर दिया था. जिसके बाद आपस में ही दोनों नेता भिड़ पड़े.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*