राज्यपाल बोले : बिहार की बेटियां डरें नहीं, छेड़खानी की शिकायत थाने से पहले राजभवन में करें

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि छेड़खानी किसी भी स्थिति में बर्दाश्त नहीं है. इस पर राजभवन स्तर से डायरेक्ट कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि पीड़ित बेटियां हो या महिलाएं, वे डरे नहीं और राजभवन में सीधी शिकायत करें. उनके लिए राजभवन का दरवाजा 24 घंटे खुला है. ​वे जब जरूरत समझें, शिकायत करें. उनकी शिकायतों पर गंभीरतापूर्वक कार्रवाई की जाएगी. गुरुवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक पटना के एसकेएम में आयोजित छात्र संवाद कार्यक्रम में बोल रहे थे.

उन्होंने कहा कि अब बिहार के कॉलेजों की छात्राएं और सूबे की महिलाएं या लड़कियां अब छेड़खानी की शिकायत सीधे राजभवन में कर सकेंगी. उन्होंने कहा कि छेड़खानी की शिकायत थाने में बाद में पहले राजभवन में होगी. इसके लिए कोई भी महिला राजभवन में 24 घंटे में कभी भी फोन कर सकती है.

राज्यपाल ने यह भी कहा कि राजभवन में कुछ अधिकारियों को इसके लिए नियुक्त किया गया है. राजभवन के ये अधिकारी खुद जाकर महिला की ना सिर्फ सहाय़ता करेंगे, बल्कि एफआईआर वगैरह दर्ज भी कराएंगे. उन्होंने कहा कि शिकायतों में किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इसके लिए राजभवन में कुछ टेलिफोन लाइन्स लगाये जा रहे हैं.

राज्यपाल ने कहा कि हर कक्षा में अब सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएंगे और कॉलेज के शिक्षक भी अब हर वक्त राजभवन की नजर में होंगे. उन्होंने कहा कि शिक्षकों को अब ना सिर्फ बायोमीट्रिक मशीन में हाजिरी लगानी होगी, बल्कि उनकी हर कक्षा पर सीसीटीवी के माध्यम से राजभवन की नजर रहेगी. राज्यपाल के अलावा कार्यक्रम को डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी संबोधित किया. बता दें कि इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी जानेवाले थे, लेकिन अंतिम समय में तबीयत ठीक नहीं रहने के कारण उनका प्रोग्राम कैंसिल हो गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*