गुलाब तूफान का बिहार में दिखने लगा असर, आरा में वज्रपात से दो की मौत; कई जिलों में झमाझम बारिश

लाइव सिटीज, पटना : बिहार में ‘यास’ के बाद अब ‘गुलाब’ ने दस्तक दी है. इसका असर सूबे में दिखने लगा है. मौसम विभाग ने इस तूफान के बारे में कल रविवार को ही जानकारी दे दी थी. आज सोमवार को इसका असर दिखने भी लगा. पटना समेत सूबे के 11 जिलों को मौसम विभाग ने अलर्ट किया है. कई जिलों में झमाझम बारिश तो कुछ जिलों बूंदाबांदी शुरू हुई है. हालांकि, पटना में बारिश नहीं हो रही है, लेकिन बादल छा गए हैं. संभव है कि देर रात बारिश हो.

दरअसल, बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र गहरे दबाव में बदल गया है. यह चक्रवाती हवा के रूप में एक्टिव हो गया है. इसे ‘गुलाब’ नाम दिया गया है. यह तूफान ओडिशा होते हुए आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम की तरफ बढ़ रहा है. मौसम विभाग के अनुसार, तूफान के आज से कल तक आंध्र प्रदेश के तटवर्ती क्षेत्रों से टकराने का अनुमान है. इसका असर बिहार समेत देश के कई हिस्सों में देखने को मिलेगा.

आपदा प्रबंधन विभाग ने भी चेताया है​ कि इस दौरान वज्रपात की भी आशंका है. लोग घरों में ही रहें. उधर, मिल रही जानकारी के अनुसार, भोजपुर में दो लोगों की मौत आज दोपहर में वज्रपात से हो गई है. समस्तीपुर में भी बारिश हो रही है. भोजपुर के अलावा बक्सर, कैमूर, रोहतास, सिवान, मुंगेर, बांका, जमुई आदि जिलों को भी अलर्ट कर दिया है.

बहरहाल, मौसम विभाग के अनुसार गुलाब तूफान का असर मॉनसून पर भी पड़ा है. 30 सितंबर तक खत्म होने वाला मॉनसून इस बार बंगाल की खाड़ी में सक्रिय चक्रवाती हवाओं की वजह से अक्टूबर तक जाएगा. बंगाल की खाड़ी से लगातार नमी बिहार के विभिन्न हिस्सों में पहुंच रही है. इस कारण मॉनसून के 7 अक्टूबर तक बढ़ने की संभावना है.