Bihar Police : प्राथमिकी दर्ज करने में अब टालमटोल नहीं कर पाएंगे थानेदार, वरना पुलिस कप्तान से होगा डायरेक्ट सामना

लाइव सिटीज, पटना : प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराने के मामले में पुलिसिया टालमटोल से परेशान लोगों के लिए गुड न्यूज (Good News) है. अब थानेदार टालमटोल नहीं कर पाएंगे और न ही मामले को पेंडिंग (Pending) रख पाएंगे. वरना उनका डायरेक्ट साामना पुलिस कप्तान (SP) से होगा. उनकी क्लास भी लगेगी. दरअसल, सीनियर पुलिस अफसरों (Senior Police Officers) को लोगों की तरफ से लगातार ऐसी शिकायतें आती रहती हैं कि प्राथमिकी दर्ज करने में थानेदार टालमटोल की नीति अपनाते रहते हैं. इससे तंग अफसरों ने नई व्यवस्था की है.

नई व्यवस्था में पीड़ितों को बस इतना करना है कि वे सीधे निर्धारित समय पर एसपी ऑफिस पहुंच जाएं. वहां पर एसपी के साथ डीएसपी भी मौजूद रहेंगे. साथ ही थानेदार को भी बुलाकर रखा जाएगा. शिकायतकर्ता के सामने ही थानेदार से इसकी जानकारी ली जाएगी. एक ही कमरे में थानेदार का अफसरों से आमना-सामना होगा. इसके लिए पटना में सिटी एसपी मध्य ने सेंट्रल इन्वेस्टिगेशन रूम बनाया है. हर दिन निर्धारित समय पर इस तरह के मामले निबटाए जाएंगे.

सिटी एसपी मध्य विनय तिवारी के अनुसार, वैसे तो पिछले साल ही पुलिस महकमे में प्रयोग के तौर पर सेंट्रल इन्वेस्टिगेशन रूम का गठन किया गया था. लेकिन कोविड 19 की वजह से यह बंद हो गया था. अब इसे फिर से शुरू किया गया है. इसमें सुबह 9 से रात 9 बजे तक 4-4 घंटे की शिफ्ट में काम होगा. इसमें एसपी और डीएसपी समीक्षा करेंगे कि आखिर पीड़ित की प्राथमिकी में क्यों टालमटोल की गई.