बिहार में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही, पटना के बड़े अस्पताल PMCH में इलाज के बाद खुले में फेंके जा रहे ग्लव्स और PPE किट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संक्रमण (Corona virus) के तेज़ी से फैलने के बाद भी लोग मान नहीं रहे। अगर ये गैर जिम्मेदाराना रवैया खुद स्वास्थ्य विभाग करे तो क्या कहा जाए। शहर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस बीच पटना के बड़े अस्पताल पीएमसीएच के स्वास्थ्य कर्मियों की घोर लापरवाही सामने आ रही है। PMCH के स्वास्थ्य कर्मी अस्पताल परिसर में ही पीपीई किट और और अन्य सामान फेंक रहे। अस्पताल कर्मचारियों की ऐसी लापरवाही से लोगों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

कोरोना वार्ड में जिस गलव्स और PPE किट को पहनकर डॉक्टर गंभीर मरीजों का इलाज कर रहे हैं उसे खुले में फेंका जा रहा है। जहां संक्रमितों के इस्तेमाल और इलाज में प्रयोग किए गए सामानों को फेंका जा रहा है वहीं ATM भी है। ऐसे में पैसा निकालने के दौरान भी कोई संक्रमित हो सकता है।

PMCH में कोरोना वार्ड के ठीक सामने हर दिन कचरा स्टोर किया जाता है जो पूरे दिन वहीं पड़ा रहता है। इसी जगह से सामान्य मरीजों का ओपीडी और इमरजेंसी में आना जाना होता है। एक खुले डस्टबिन में मरीजों के पास से निकली सुई दवाई की खाली शीशी बोतलों के साथ कोरोना वार्ड से निकली डिस्पोजल थाली गिलास के साथ गल्वस और PPE किट का पूरा ढेर होता है। हर दिन यहां कचरा ऐसे ही इकट्‌ठा कर दिया जाता है और उसके निस्तारण को लेकर कोई गंभीरता नहीं दिखाई जाती है। यह सामान्य कचरों की तरह फेंक दिया जाता है जबकि कोविड वार्ड से आने वाला हर कचरा काफी खतरनाक और संक्रमण फैलाने वाला होता है।