गोपालगंज के युवक को कुवैत में बनाया बंधक, पत्नी ने लगाई डीएम से गुहार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के गोपालगंज के एक युवक को कुवैत में बंधक बना लिया गया है. युवक कुवैत से वतन वापसी करना चाहता है लेकिन उसे आने नहीं दिया जा रहा है. बताया जा रहा है कि वहां उससे जबरन काम करवाया जा रहा है. पीड़ित युवक के साथ मारपीट करने की खबर है. परिजनों के अनुसार वतन वापसी के लिए 5 लाख रुपए की मांग की जा रही है.

बताया जा रहा है कि गोपालगंज के महम्मदपुर थाना क्षेत्र के देवकुली गांव के मनीष कुमार सिंह रोजी-रोटी के सिलसिले में कुवैत गया था. लेकिन उसके साथ वहां जुल्म किया जा रहा है. युवक को सिगरेट से दागा जा रहा है. पीड़ित परिजनों के मुताबिक वीडियो कॉलिंग कर युवक को प्रताड़ित किए जाने की तस्वीर मनीष की पत्नी को दिखाया जा रहा है.

पति को प्रताड़ित करते देखने के बाद महिला और उसके परिजनों ने जेडीयू के प्रदेश महासचिव पूर्व विधायक मंजीत कुमार सिंह से मिलकर मदद की गुहार लगाई है. पूर्व विधायक की पहल पर युवक की पत्नी ने जिलाधिकारी अनिमेष कुमार पराशर को पत्र लिखकर घटना की जानकारी देते हुए अपने पति के घर वापसी के लिए मदद मांगी है.

मनीष की पत्नी खुशबू देवी ने बताया कि उनके पति दिसंबर 2018 में मुंबई से कुवैत के मुशाबत रेस्टोरेंट सिटी अलजहरा काम करने गए थे. लेकिन उनके पति को वहां बंधक बना लिया गया है. काफी दिनों से जब उनके पति का फोन नहीं आया तो चिंता होने लगी. कुछ दिन बाद कुवैत से उसके मोबाइल नंबर पर वीडियो कॉल कर उनके पति को दिखाया गया. जिसमें उनके पति का हाथ पैर बंधा हुआ था उसके साथ मारपीट की जा रही थी.

कुवैत से वीडियो कॉल करने वाले का नाम मौला है. कॉल करने वाला व्यक्ति उनके पति को मुक्त करने के लिए 2300 कुवैती दीनार यानि करीब 05 लाख रुपए की मांग कर रहा है. रुपया नहीं देने पर पति को जान से मारने की धमकी दी जा रही है.

पूर्व विधायक मंजीत सिंह ने कहा कि पीड़ित के साथ मारपीट और बंधक बनाकर सिगरेट से दागने की सूचना जिला पदाधिकारी को दी गयी है. डीएम अनिमेष कुमार पराशर से भारत सरकार के विदेश मंत्रालय को अवगत करा जल्द से जल्द वतन वापसी की गुहार लगाई गयी है. डीएम ने इस मामले में त्वरित करवाई का आश्वासन दिया है.