कैंसर मरीजों को इलाज के लिए अब मिलेगा 1 लाख, हेल्थ मिनिस्टर ने की घोषणा

पटना/फुलवारीशरीफ : कैंसर मरीजों के लिए बिहार से बड़ी खबर है. सरकार ने कैंसर मरीजों को मिली रही सहायता राशि को बढ़ा दी है. इसी तरह बोन मैरो ट्रांसप्लांट में भी इलाज के लिए मिलने वाली राशि बिहार सरकार ने बढ़ा दी है. राशि बढ़ाये जाने की घोषणा बिहार के हेल्थ मिनिस्टर मंगल पांडेय ने की. यह घोषणा कैंसर व बोन मैरो के मरीजों के लिए राहत बढ़ी खबर मानी जा रही है. इसका नोटिफिकेशन अगले हफ्ते होने की उम्मीद की जा रही है. बता दें कि रविवार को विश्व कैंसर दिवस मनाया जा रहा है. विभिन्न संगठनों की ओर से कार्यक्रम के आयोजन किये जा रहे हैं. फुलवारी शरीफ स्थित महावीर कैंसर संस्थान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

बिहार के हेल्थ मिनिस्टर मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार सरकार कैंसर मरीजों को इलाज के लिए अब एक लाख रुपये की सहायता राशि देगी. यह राशि पहले 80 हजार रुपये थी. इसे बढ़ाने के लिए लगातार मरीजों के परिवार वाले मांग कर रहे थे. इसी पर यह कदम उठाया गया है. इतना ही नहीं, उन्होंने बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए भी बड़ी घोषणा की है. अब बिहार सरकार बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए मरीजों को सहायता राशि में 5 लाख रुपये देगी. उन्होंने कहा कि इसका नोटिफिकेशन एक-दो हफ्ते में कर दिया जाएगा.

दरअसल स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय महावीर कैंसर संस्थान में कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गये थे. यह घोषणा उन्होंने उसी कार्यक्रम में की. उन्होंने यह भी कहा कि सही जानकारी एवं जागरूकता बढ़ाने का काम करें, तभी देश से कैंसर पर काबू पाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि बिहार के लिए यह खुशी की बात है कि महावीर कैंसर संस्थान मरीजों के इलाज में पूरे देश में दूसरे स्थान पर है. पूरे देश में टीएमएच मुंबई के बाद मरीजों के इलाज के मामले में महावीर कैंसर संस्थान का नाम ही आता है.

महावीर कैंसर संस्थान की सह निदेशिका डॉ मनीषा सिंह ने बताया कि पिछले साल 2017 में पुराने मरीजों को छोड़कर 25000 नये मरीजों का इलाज महावीर कैंसर संस्थान में हुआ है. उन्होंने कहा कि महिलाओं में कैंसर होने की आशंका पुरूषों की तुलना में काफी ज्यादा है. महिलाओं को खासकर दो प्रकार के कैंसर के प्रति काफी जागरूक रहना पड़ेगा. पहला, बच्चेदानी का कैंसर एवं दूसरा स्तन कैंसर. उन्होंने संस्थान के आंकड़े पेश करते हुए बच्चियों को एचपीवी टीका लेन की सलाह दी. उन्होंने कहा कि इस टीके को लेने से सर्विक्स कैंसर के होने से रोका जा सकता है.

उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं को समय-समय पर ब्रेस्ट सेल्फ एक्जामिनेशन करते रहना चाहिए. ताकि, स्तन कैंसर को प्राइमरी स्टेज में ही पकड़ा जा सके. उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के नशा से परहेज करें. कैंसर रोग के लिए तम्बाकू या तम्बाकू से बने सामान और खान-पान की गलत आदतें सर्वाधिक जिम्मेदार है. वहीं हॉस्पिटल सुपरिटेंडेंट डॉ एलबी सिंह ने महावीर कैंसर संस्थान की ओर से गरीब मरीजों को सुविधा मुहैया कराने की विस्तृत जानकारी दी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*