गम का पहाड़ : छपरा के दो भाइयों की गुजरात में हत्या, सदमे में बहनोई भी चल बसा

लाइव सिटीज डेस्क : यह सही है, कभी-कभी लोगों पर विपदा पहाड़ बन कर टूटता है. कुछ ऐसा ही हुआ है बिहार के छपरा निवासी के साथ. छपरा में रहनेवाले दो भाइयों की किसी ने गुजरात में हत्या कर दी. उनका बहनोई गम बर्दाश्त नहीं कर सका. सदमे में उनकी भी मौत हो गयी. घटना से परिजनों में कोहराम मच गया है. एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

जानकारी के अनुसार छपरा के रिविलगंज थाना क्षेत्र के रामपुर गांव का है. रामपुर के रहनेवाले जगदीश चौधरी के पुत्र रवींद्र चौधरी (32 वर्ष) तथा अजय चौधरी (27 वर्ष) सूरत में रहकर प्राइवेट जॉब करते थे. दोनों भाइयों की ड्यूटी साड़ी फैक्टरी में थी. बताया जाता है कि 21 जनवरी को अज्ञात अपराधियों ने अजय चौधरी की हत्या कर शव को किम रेलवे स्टेशन के पास ट्रैक पर फेंक दिया था. जीआरपी ने शव को कब्जे लेकर पोस्टमार्टम कराया और इसकी सूचना परिजनों को फोन से दी.

इस गम से अभी परिवार वाले सदमे में ही थे कि मृत रवींद्र के दूसरे भाई रवींद्र चौधरी का शव 22 जनवरी की रात किराये के कमरे से बरामद किया गया. कमरा बाहर से बंद था. ऐसे में पुलिस के लिए अजय चौधरी की मौत चुनौती बनी हुई है. अभी तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है. घटना की जानकारी मिलने पर उनके परिजन छपरा से गुजरात के लिए निकल गये हैं.

लेकिन सबसे दुखद छपरा में हुआ. दोनों भाइयों की मौत का सदमा उनके बहनोई बर्दाश्त नहीं कर सके. वे भी चल बसे. बताया जाता है कि वारदात की जानकारी मिलने पर रवींद्र व अजय के 45 वर्षीय बहनोई अमरनाथ चौधरी बेहोश हो गये. उन्हें इलाज के लिए लोग अस्पताल ले गये. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*