वर्दी घोटाले में पूर्व आईजी रामचंद्र खान दोषी करार, तीन साल कैद की सजा

लाइव सिटीज डेस्क : वर्दी घोटाले में बड़ी खबर आ रही है. इसमें झारखंड कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई. इसमें आरोपी बिहार के पूर्व आईजी रामचंद्र खान को सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई है. उन्हें तीन साल के कारावास की सजा सुनाई गई है. रामचंद्र खान के अलावा तीन अन्य को भी 3-3 साल की सजा की कैद की सजा सुनाई गई है. बता दें कि वर्ष 1983-84 के बीच 44 लाख का वर्दी घोटाला हुआ था.

दरअसल 80 के दशक में बिहार में सिपाहियों को वर्दी दी जाती थी. वर्दी की खरीद के लिए सेंट्रल पर्चेज कमेटी थी. 1980 के बाद बीएमपी के कमांडेंट स्तर के अफसरों को यह अधिकार दिया गया था कि अगर वर्दी की कमी हो तो वे अपने स्तर से भी बाजार से भी इसे खरीद सकते हैं.

इसी के बावत वर्ष 1983-84 के बीच स्वीकृत दर से अधिक के रेट पर वर्दी की खरीदारी की गयी. उस दौरान रामचंद्र खां एआईजी बजट के पद पर तैनात थे. उन्होंने इस खरीद को मंजूरी दी थी. मामला सामने आने के बाद सरकार ने 1986 में जांच सीबीआई को सौंप दी. काफी समय तक जांच के बाद रामचंद्र खां सहित 9 लोगों को सीबीआई ने आरोपी बनाया था.

जांच में सीबीआई ने भादवि की धारा 120 बी, 420 और 468 के तहत केस दर्ज किए थे. जांच में 34 लाख की हेराफेरी पकड़ी गयी थी. सिर्फ 10 लाख की ही वर्दी की खरीदारी के प्रमाण मिले, जबकि खरीद 44 लाख की दिखाई गई थी. इसी मामले में वर्ष 2014 के जनवरी माह में रामचंद्र खान को पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

इधर सीबीआई कोर्ट ने सोमवार को इस मामले में सुनवाई करते हुए रामचंद्र खान व तीन अन्य को दोषी करार देते हुए सबों को तीन-तीन साल की सजा सुनाई गई. बता दें कि 13 मार्च 1986 को बिहार सरकार ने मामले की सीबीआई जांच की अनुशंसा की थी. इसमें वर्ष 1996 में चार्जशीट दायर किया गया था. खास बात कि पूर्व आईजी रामचंद्र खां के खिलाफ बिहार के पूर्व डीजीपी एके पांडेय और झारखंड के पूर्व डीजीपी नेयाज अहमद ने गवाही दी थी.

यह भी पढ़ें-

लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ होने पर CM नीतीश की हां, कहा – हम तैयार हैं
2019 में लोकसभा के साथ ही हो सकता है बिहार विधानसभा चुनाव !
अब बिंदास करिए हवाई यात्रा, एयरपोर्ट पर खत्म होगा ये झमेला
Golden Opportunity : पटना एयरपोर्ट के पास 1 करोड़ का लग्‍जरी फ्लैट, बुकिंग चालू है

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमेंफ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*