लालू प्रसाद फिर नरेंद्र मोदी सरकार पर बरसे, कहा- ‘खतरे में लोकतंत्र’

लाइव सिटीज डेस्क/रांची : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को चारा घोटाला के चाईबासा कोषागार से जुड़े मामले में 5 साल की सजा हुई है. सजा के बिंदु पर फैसला आनेवाला यह चारा घोटाले का तीसरा मामला है. इसके पहले दो अन्य मामलों में उन्हें अलग-अलग कैद की सजा सुनाई गई है. वहीं गुरुवार को चारा घोटाला से जुड़े डोरंडा कोषागार मामले में उनकी सीबीआई कोर्ट में पेशी हुई. कोर्ट से निकलने के दौरान लालू प्रसाद को मीडिया ने घेरा. तब उन्होंने मीडिया के सामने अपनी बात रखी. बता दें कि बुधवार को चाईबासा कोषागार मामले में सजा के आने के बाद मीडिया से कोई बात नहीं की थी.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने गुरुवार को रांची में सीबीआई के विशेष कोर्ट में अपनी हाजिरी दी. गुरुवार को चारा घोटाला के डोरंडा कोषागार से जुड़े मामले में उनकी पेशी हुई. हालांकि इस दौरान वे काफी थके थके लग रहे थे. इसके बाद भी उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार और बीजेपी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है. सबको सजग रहने की जरूरत है.

लालू प्रसाद ने कहा कि बीजेपी के लोग देश से लोकतंत्र को खत्म करके एक नयी तरह की व्यवस्था देश में लाना चाहते हैं. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस मामले पर भी कहा कि यह चिंता का विषय है. सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने देश के सामने जो सवाल उठाये हैं, उसका जवाब मिलना चाहिए. इस पर पूरे देश को सोचनेे की जरूरत है.

इधर चाईबासा कोषागार से जुड़े मामले में भी पत्रकारों ने उनसे बात की. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार लालू प्रसाद ने कहा कि इस संबंध में वकीलों से पूछें. वही लोग जवाब देंगे. गौरतलब है ​कि डोरंडा कोषागार मामले की सुनवाई सीबीआई के विशेष जज प्रदीप कुमार के कोर्ट में चल रही है. सीबीआई के गवाह के कोर्ट में हाजिर नहीं होने के कारण लालू प्रसाद को फिर से होटवार स्थित बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में भेज दिया गया. कोर्ट से लौटने के दौरान ही वे पत्रकारों से बात कर रहे थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*