लालू का जेल में पहला दिन : खाने में मिली रोटी, सब्जी में दिये गये आलू, सोमवार से मिलेंगे लोग

शनिवार को सीबीआई कोर्ट के बाहर लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव

लाइव सिटीज डेस्क : एक बार फिर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद बिहार ही नहीं, देश की सियासत में छा गये हैं. इस बार कोई रैली अथवा बंद को लेकर मामला नहीं है. यह मामला चारा घोटाले के एक मामले में दोषी ठहराये जाने को लेकर है. शनिवार को रांची के सीबीआई कोर्ट से दोषी करार दिये जाने के बाद उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में रखा गया है. उनके समर्थक रांची में जुटे हुए हैं. बड़े-बड़े नेता वहां पहुंचे हुए हैं. जेल में पहला दिन उन्हें खाने में रोटी व सब्जी दी गयी. दो बार मेडिकल टेस्ट भी हुआ. वहीं रविवार को किसी भी विजिटर्स को उनसे नहीं मिलने दिया गया, जबकि सोमवार से विजिटर्स जेल मैनुअल के अनुसार उनसे मिल सकेंगे. इसके लिए समय भी निर्धारित कर दिया गया है.

दरअसल अचानक रविवार को मीडिया में खबर आयी कि लालू प्रसाद की तबीयत कुछ नासाज है. इससे उनके समर्थक काफी चिंतित हो गये. इसे लेकर जेल प्रशासन भी चौकस हो गया. बाद में लालू प्रसाद को दो बार दिन में मेडिकल टेस्ट कराया गया. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार उनकी तबीयत ठीक है. हालांकि चेहरे से थोड़े चिंतित दिख रहे हैं. उनकी देख-रेख के लिए दो लोगों को लगाया गया है. उन्हें दिन में खाने में रोटी व सब्जी दी गयी है. साथ ही सब्जी में आलू दिये गये थे. सुबह में चाय व बिस्किट दिये गये.



लालू प्रसाद से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

बता दें कि इसके पहले शनिवार को भी उन्हें खाने में रोटी व बंदगोभी की सब्जी दी गयी थी. साथ में अरहर की दाल दी गयी थी. बताया जाता है कि कल सीबीआई कोर्ट से जब लालू प्रसाद जेल पहुंचे थे तो जेल प्रशासन ने उनसे खाने के बारे में बात की थी. लेकिन लालू प्रसाद ने कुछ नहीं कहा. वहीं मौके पर मौजूद तेजस्वी यादव ने कहा कि पापा को भात नहीं रोटी ही देना है. तब रात में उन्हें जेल मैनुअल के अनुसार उन्हें रोटी, सब्जी व दाल दी गयी.

चारा घोटाला से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

खास बात कि लालू प्रसाद को कैदी नं 3351 एलॉट किया गया है. वहीं रविवार को किसी भी विजिटर्स को मिलने नहीं दिया गया. वहीं सोमवार से जेल मैनुअल के अनुसार लोग मिल सकेंगे. इसके लिए जेल मैनुअल के अनुसार विजिटर्स उनसे सुबह 8 बजे से अपराह्न 12 बजे तक मिल सकते हैं. गौरतलब है कि चारा घोटाले के देवघर कोषागार से कांड संख्या आरसी 64ए/96 में लालू प्रसाद समेत 16 लोगों को दोषी ठहराया गया है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र, ध्रुव भगत व विद्यासागर निषाद सहित छह को बरी कर दिया गया है. दोषियों की सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए तीन जनवरी की तिथि निर्धारित की गयी है.