पाटलिपुत्रा महोत्सव : दूसरे दिन भी उमड़े पटनाइट्स, भक्ति गीतों की बही गंगा

लाइव सिटीज पटना : पटना के मिलर हाईस्कूल ग्राउंड में पाटलिपुत्रा महोत्सव के दूसरे दिन बुधवार को भी रौनक बरकरार रही. शहर के लोग सुबह 11 बजे से ही महोत्सव में जुटने लगे. शाम तक भीड़ की संख्या और बढ़ गई. जदयू उद्योग प्रकोष्ठ की ओर से आयोजित पाटलिपुत्रा महोत्सव में जहां नए उद्यमियों को स्टार्ट अप से अपने प्रोडक्ट को दिखाने का मौका मिला है. वहीं महिला उद्यमियों ने भी अपने हुनर को लोगों के सामने रखा. महोत्सव में हर रोज कई विभिन्न प्रस्तुतियां भी दी जा रही हैं. पाटलिपुत्रा महोत्सव में बिहार के लोक कलाकार सात दिनों तक विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर अपनी प्रस्तुति देकर बिहार की सांस्कृतिक विरासत से लोगों को परिचित करा रहे हैं.

Struggler ने शौचालय इस्तेमाल के प्रति लोगों को किया जागरूक




भारत के गांव हो या शहर, आज भी लोग घर में शौचालय का इस्तेमाल नहीं करते हैं. इस विषय को लेकर आज पाटलिपुत्रा महोत्सव में फेमस थिएटर ग्रुप ‘Struggler’ की तरफ से शौचालय इस्तेमाल को लेकर लोगों को जागरूक किया गया. मैसेज दिया गया कि खुले में शौच से लोगों को बचना चाहिए. नुक्कड़ नाटक के माध्यम से ‘Struggler’ ग्रुप ने वहां मौजूद दर्शकों को खुले में शौच करने से फैलने वाली बीमारियों के बारे में जानकारी दी. साथ ही यह सोशल मैसेज भी दिया कि आस-पास गंदगी न रख कर देश व राज्य को स्वच्छ बनाने में अपना सहयोग दें. क्योंकि, किसी भी देश के विकास की परिकल्पना इस दृश्य के साथ नहीं कर सकते, जहां आधी आबादी खुले में शौच करती हों.

मां गंगा और शिव भजन पर झूमते दिखे दर्शक


आज समारोह का दूसरा दिन था. समारोह की शुरुआत प्रसिद्ध लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने गंगा भजन के साथ की, जिसे सुनकर वहां मौजूद दर्शक पूरी तरह से भक्तिमय माहौल में डूब गए. नीतू कुमारी नवगीत ने शिव भजन गाकर सभी लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया. महोत्सव के भक्तिमय माहौल में चार-चांद लगाते हुए फेमस भजन गायक हरिशंकर वर्मा ने भी अपनी प्रस्तुति दी. उन्होंने भगवान कृष्ण के भजन से लोगों का मन आनंद से भर दिया. उन्होंने बिहार के कई पारंपरिक गीतों को गाकर दर्शकों को बिहारी संगीत सुना कर मोह लिया.

पाटलिपुत्रा महोत्सव शुरू : पहले दिन से ही जुटने लगे पटनाइट्स, कलाकारों ने भी मन मोहा

फर्नीचर से लेकर फूड आइटम्स तक की जमकर खरीदारी


पाटलिपुत्रा महोत्सव में कई स्टॉल लगाए गए हैं. यहां विभिन्न प्रकार के फर्नीचर, घरेलू उपयोग की वस्तुएं, मधुबनी पेंटिग, मंजुषा आर्ट, टिकुली आर्ट से जुड़े तरह-तरह के प्रोडक्ट्स मौजूद हैं. वहीं फूड स्टॉल्स में भी आपको कई वैरायटीज मिलेगी. महोत्सव में यू सेप का फूड कोर्ट बनाया गया है. यहां पर आपको अलग-अलग राज्यों के साथ लोकल बिहारी जायकों का भी आनंद मिलेगा, वो भी लजीज स्वाद के साथ. महोत्सव में आए लोगों ने सभी स्टॉलों में अपना इंट्रेस्ट दिखाया. साथ ही जमकर खरीदारी भी की.

ट्रेनिंग सेशन में महिलाओं ने सीखे नए स्किल्स

पाटलिपुत्रा महोत्सव का आयोजन मुख्य रूप से महिलाओं और युवाओं को ध्यान में रख कर किया गया है. इसलिए सात दिनों तक हर रोज महोत्सव में महिला उद्यमियों के लिए ट्रेनिंग सेशन की व्यवस्था की गयी है. बुधवार को भी ट्रेनिंग सेशन में उन महिलाओं को उद्यमी बनने के लिए प्रेरित किया गया. महोत्सव में हर रोज बिहार की लोक कलाओं, संगीत, खान-पान, सामाजिक मुद्दे, महिला सशक्तीकरण और युवाओं को ध्यान में रख कर कई कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया, जिनमें कॉलेज स्टूडेंट से लेकर कामकाजी महिलाओं ने भी हिस्सा लेकर नए स्किल्स सीखा.

उधर जनता दल यू के उद्योग प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित पाटलिपुत्र महोत्सव के सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष संजय खंडेलिया, राजीव अग्रवाल, अमृता सिंह, सुनीता सिंह, पल्लवी सिन्हा, विकास कमलिया, राजेश सुरेका, विकास अग्रवाल, अभिषेक लोहिया, विक्रम बंका, अनूप अग्रवाल, गुरविंदर पाल सिंह आदि उपस्थित रहे.