पटना-दीघा रेल लाइन की जगह अब बनेगी फोर लेन सड़क, रेलवे ने बिहार सरकार को सौंपी जमीन

लाइव सिटीज डेस्क : पटना के लिए लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी. पटना-दीघा रेल लाइन की जमीन को रेल मंत्रालय ने बिहार सरकार को सौंप दिया है. इससे अब पटना फोर लेन बनने का रास्ता साफ हो गया. इसके लिए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल के प्रति आभार प्रकट किया है. उन्होंने कहा कि रेलमंत्री ने 24 घंटे के अंदर अपने आश्वासन को पूरा किया, जिससे आर ब्लॉक-दीघा के बीच 150 साल पुरानी रेल ट्रैक की छह किलोमीटर लंबी और 30 मीटर चौड़ाई की जमीन पर अब सड़क निर्माण संभव हो सकेगा.

रेल मंत्रालय ने गुरुवार को बड़ा निर्णय लेते हुए पटना-दीघा रेल लाइन की जमीन बिहार सरकार को सौंप दी है. रेल मंत्रालय के इस बड़े निर्णय के बाद अब इस रेलवे ट्रैक की जमीन पर फोर लेन बनने का रास्ता साफ हो गया है. हालांकि पूरी प्रक्रिया शुरू होने में साल भर का समय लगेगा. चूंकि जमीन के हस्तांतरण की प्रक्रिया से लेकर रेल ट्रैक को हटाने में साल भर लगने की उम्मीद है. इस दौरान फोर लेन बनाने का डीपीआर तैयार करने का काम पथ विकास निगम करेगी. सरकार ने पथ विकास निगम को योजना का डीपीआर बनाने के लिए अधिकृत किया है.

सूत्रों की मानें तो आर ब्लॉक से दीघा तक छह किलोमीटर रेल लाइन की जमीन पर फोर लेन की सड़क के साथ-साथ मेट्रो ट्रैक तैयार करने का प्रस्ताव है. दीघा से पटना जंक्शन के बीच प्रस्तावित मेट्रो रेल ट्रैक के भी इसी रास्ते से गुजरने की संभावना है. रेल ट्रैक की 40-45 मीटर चौड़ी जमीन के बीच का हिस्सा मेट्रो ट्रैक के लिए उपलब्ध कराया जाएगा. पथ निर्माण विभाग की मानें तो दीघा-आर ब्लॉक रेलवे ट्रैक की जमीन के लिए लगभग 221 करोड़ रुपये भारत सरकार को देना है. इसके लिए कैबिनेट से स्वीकृति मिलने के बाद राशि उपलब्ध करायी जाएगी.

दीघा-आर ब्लॉक रेलवे ट्रैक की जगह फोर लेन बनने से आर ब्लॉक से दीघा की दूरी दो किलोमीटर कम हो जाएगी. वहीं सफर का समय एक घंटे से घटकर 15 से 20 मिनट रह जायेगा. इतना ही नहीं, आर ब्लॉक से सचिवालय की दूरी सवा किलोमीटर, सचिवालय से राजीव नगर की दूरी मात्र तीन किलोमीटर हो जाएगी. वहीं राजीव नगर से दीघा की दूरी दो किलोमीटर हो जाएगी. इससे लोगों को काफी समय बचेगा.

इधर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आर ब्लॉक-दीघा रेल लाइन की 71 एकड़ जमीन संशोधित दर पर बिहार सरकार को सड़क निर्माण हेतु सौंपने की सहमति पर रेलमंत्री पीयूष गोयल का आभार व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि कल नयी दिल्ली में दूसरी बार रेलमंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात कर उक्त जमीन बिहार सरकार को सौंपने का आग्रह किया था. रेलमंत्री ने 24 घंटे के अंदर अपने आश्वासन को पूरा किया, जिससे आर ब्लॉक-दीघा के बीच 150 साल पुरानी रेल ट्रैक की छह किलोमीटर लंबी और 30 मीटर चौड़ाई की जमीन पर अब सड़क निर्माण संभव हो सकेगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*