रीतलाल के खिलाफ हाईकोर्ट ने मांगी रिपोर्ट, कहा-DGP को भी बनाएं प्रतिवादी

पटना (एहतेशाम) : जेल में बंद विधान पार्षद रीतलाल यादव के विरुद्ध बुधवार को पटना हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. हाईकोर्ट ने रीतलाल के खिलाफ पटना सहित सूबे में दर्ज विभिन्न आपराधिक मामलों की रिपोर्ट एक सप्ताह में
कोर्ट में पेश करने को कहा है. हाईकोर्ट ने यह निर्देश सरकार को दिया है. इतना ही कोर्ट ने याचिकाकर्ता को निर्देश दिया कि वे इस मामले में बिहार के डीजीपी को भी प्रतिवादी बनाएं.

जस्टिस एहसानउद्दीन अमानुल्लाह की एकलपीठ ने विधान पार्षद रीतलाल यादव उर्फ रीतलाल प्रसाद सिंह की ओर से दायर याचिका पर बुधवार को सुनवाई करते हुए उक्त निर्देश दिया. याचिकाकर्ता की ओर से दी गयी सारी दलीलों को कोर्ट ने दरकिनार करते हुए बिहार सरकार को निर्देश दिया कि वे रीतलाल यादव के विरुद्ध विभिन्न थानें में दर्ज आपराधिक मामलों के साथ-साथ अन्य शिकायती मामलों से संबंधित रिपोर्ट एक सप्ताह के भीतर प्रस्तुत करें.

बता दें कि रीतलाल यादव ने जेल में रहते हुए विधान परिषद का चुनाव जीता था. वहीं उनके खिलाफ कई तरह के आपराधिक मामले चल रहे हैं. फिलहाल वे अभी जेल में बंद हैं. साथ ही यह मामला मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित है. इसी में रीतलाल ने अपनी जमानत के लिए याचिका दायर की थी. बुधवार को हुई सुनवाई में एकल पीठ ने याचिकाकर्ता के वकील को यह भी निर्देश दिया कि वे डीजीपी को भी प्रतिवादी बनाएं.

गौरतलब है कि पटना हाईकोर्ट में इसी साल सितंबर में भी एक रंगदारी के मामले में जमानत की याचिका पर सुनवाई हुई थी. उन पर 80 लाख रुपये रंगदारी मांगने का आरोप था. मामला अप्रैल में दर्ज हुआ था. इसमें सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने रीतलाल यादव की याचिका को रद्द कर दिया था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*