तेवर में संजय सिंह : ‘तेजस्वी में हिम्मत है, वे सजायाफ्ता लालू प्रसाद को पार्टी से निकाल पाएंगे’

SANJAY-JDU2
फाइल फोटो

पटना : जदयू के मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने गुरुवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर तीखा हमला किया है. उन्होंने राजनीति में नैतिकता को आधार माना जाता है और उसी नैतिकता के आधार पर राजनीति तय की जाती है, लेकिन तेजस्वी यादव ने अपने लिए नैतिकता ही तय नहीं की है. इसलिए उनकी पूरी राजनीति ही अंधकार में है.

संजय सिंह ने शराबकांड के आरोपी राकेश सिंह मामले में कहा कि जैसे ही जदयू के आलाकमान को यह पता चला कि राकेश सिंह के अवैध धंधे रहे हैं और उसकी गतिविधियां संदेह में रही हैं, तो जदयू ने उसे बर्खास्त कर दिया. यही जदयू की की नैतिकता है, जिसमें क्विक एक्शन लिया गया.

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव सिर्फ दूसरों को नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे हैं. लेकिन खुद अपराधी और सजायाफ्ता पार्टी का पदाधिकारी बना रखा है. शहाबुद्दीन और राजवल्लभ यादव अभी इनकी पार्टी में ही है और आज तक राजद में हिम्मत नहीं हुई कि वे उन्हें बर्खास्त करें. इतना ही नहीं, तेजस्वी यादव अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के बारे में क्या सोचते हैं जो सजायाफ्ता हैं. क्या तेजस्वी यादव उन पर कोई कार्रवाई करेंगे. क्या लालू प्रसाद को पार्टी से निकालेंगे.

जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने यह भी कहा कि खुद तेजस्वी यादव को अपने बारे भी मीडिया में बोलना चाहिए, जिन पर सीबीआई ने एफआईआर किया है. आज भी हर दूसरे दिन सीबीआई, आईटी और ईडी से बुलावा आता है. उन्होंने कहा कि दरअसल लालू प्रसाद ने ‘फैमली फार्मूला ‘ पर बल दिया है. यह फार्मूला समाज के लिए नहीं, सिर्फ अपने परिवार के लिए है. जबकि नीतीश कुमार ने बिहार में ‘विकास फार्मूला’ दिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*