‘लालू प्रसाद किस-किस गिरोह के सरगना थे और हैं, ये बता दें तो…!’

राजद प्रमुख, लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू के मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पर फिर से बड़ा हमला किया है. उन्होंने शनिवार को अपने बयान में कहा है कि नीतीश कुमार जो बोलते हैं वो काम करते हैं. जो नहीं भी बोलते हैं, वो भी काम करते हैं. बोलना कम, काम ज्यादा. राशन पर भाषण नहीं होता है, ये तो बिहार के गरीबों का हक है. जो भाषण करते थे, वो तो ये भी प्रचारित करते थे किसको कितना चाय पिला रहे हैं. उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद तो अपने हर काम का प्रचार करते थे और आज भी करते हैं. स्तरहीन चरवाहा विद्यालय खोला और प्रचार किया कि वो चरवाहों के लिए है. लालू प्रसाद ने अपने हर काम की ब्रांडिंग की है. रेलवे को खोखला करके मैनेजमेंट गुरु बन गए थे. बाद में पता चला कि रेलवे नुकसान में था.

जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार खुद में एक ब्रांड हैं. वो किसी भी योजना और किसी काम को अपने जुबान से बोल दे तो वो ब्रांड हो जाता है. ‘नीतीश ब्रांड’ बिहार की पहचान है. नीतीश कुमार ने तो लालू प्रसाद के दोनों बेटों का अपने मुंह से नाम लेकर विधायक बना दिया. इसे कहते हैं ब्रांड और ऐसी होती है ब्रांड वेल्यू.



जदयू प्रवक्ता संजय सिंह(फाइल फोटो)

वहीं लालू परिवार के पास झूठ बोलने का सीएनएफ है. अपनी बेनामी संपत्ति को लेकर दूसरे नेताओं पर ब्लेम करने वाले आज कह रहे हैं कि फ़ंला नेता की वजह से ये हुआ. उनके पास कागज़ नहीं है, तो बेनामी संपत्ति के मालिक ये बताएं कि ईडी ने जब संपत्ति अटैच कर ली और ये वाजिब संपत्ति है तो आप कोर्ट में क्यों नहीं जाते. उन्होंने कहा कि ठीक है आपको जांच एजेंसियां परेशान कर रही हैं तो आप इसके विरोध में कोर्ट में जाइये, केस कीजिये. ये तो वही बात हो गई कि चोर की दाढ़ी में तिनका.

लालू प्रसाद राजनीति के भूले-बिसरे गीत हो गये हैं

संजय सिंह ने कहा कि लालू प्रसाद किस किस गिरोह के सरगना थे और हैं यदि ये सामने आ जाए तो सभी दांतों तले अंगुली दबा लेंगे. झूठ बोलने से लेकर घोटालों के सरगना तो वे ही हैं. बिहार में जब कोई घोटाले का नाम नहीं जानता था तो चारा घोटाला करके लालू प्रसाद ने बिहार के लोगों को घोटाले से परिचय कराया. आज उनकी घोटालों पर कॉपी राइट है.