शरद यादव आये लालू के समर्थन में, जगन्नाथ मिश्रा पर भी बोले

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के चारा घोटाले के एक और मामले में दोषी करार दिये जाने के बाद विरोध के साथ साथ समर्थन में भी नेता उतरने लगे हैं. पहले से लालू प्रसाद के समर्थन में रहे जदयू के बागी नेता शरद यादव ने भी इस फैसले को लेकर बयान दिये हैं. जदयू के बागी नेता शरद यादव ने भी दो टूक कहा है कि ऐसे कई लोग हैं, जो इस केस में दोषी थे, लेकिन उन्हें बरी कर दिया गया. शरद यादव का इशारा देवघर कोषागार से जुड़े इस मामले मेें बरी हुए जगन्नाथ मिश्रा की ओर था. हालांकि उन्होंने नाम नहीं लिया

जदयू के बागी नेता शरद यादव ने कहा कि हमें न्यायिक व्यवस्था पर अंगुली नहीं उठानी है. कोर्ट ने जो उचित समझा किया. लेकिन इसे लेकर ऊपर के कोर्ट में अपील की जायेगी. उम्मीद है कि लालू प्रसाद को ऊपर के कोर्ट से न्याय मिलेगा. बता दें कि चारा घोटाला के देवघर से जुड़े मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, जगदीश शर्मा व डॉ आरके राणा सहित कुल 16 आरोपियों को रांची सीबीआई के विशेष कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इस मामले की सुनवाई सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह के कोर्ट में चल रही है और 3 जनवरी को इस मामले में सजा के बिंदु पर फैसला आने वाला है.



चारा घोटाला से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

उधर सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि अगर लालू प्रसाद पर इस केस में आरोप साबित हुए हैं तो उनके खिलाफ बेशक कार्रवाई होनी चाहिए. लेकिन अन्य घोटालों में इसी प्रकार की कार्रवाई हो. उन्होंने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उनकी सरकार का ये दोहरा मापदंड कतई ठीक नहीं है. भ्रष्टाचार तो भ्रष्टाचार ही होता है फिर चाहे वह सृजन घोटाला हो, पनामा पेपर्स, व्यापमं घोटाला या फिर अमित शाह के बेटे जय शाह का मामला हो. सबके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. कानून सबके लिए बराबर है.

लालू प्रसाद से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को शनिवार को रांची सीबीआई कोर्ट से सीधे जेल भेज दिया गया था. इसके पहले दोषी करार होने पर रांची पुलिस ने कस्टडी में ले लिया था. उन्हें रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय होटवार जेल में रखा गया है. फिलहाल उनहें कैदी नंबर 3351 एलॉट किया गया है. 3 जनवरी को फैसले के बिंदु पर सुनवाई के बाद ही पता चलेगा कि कितने साल की सजा हुई.