मामले में मोड़ : IAS जितेंद्र झा की पत्नी ने किया शव पहचानने से इनकार, मां की हालत खराब

IAS जितेंद्र झा के गम में रोती बिलखती मां

दिल्ली (रुद्रप्रताप)/सुपौल (प्रियरंजन) : बिहार के रहनेवाले लापता आईएएस अफसर जितेंद्र झा का मामला और अधिक उलझ गया है. पत्नी भावना झा ने शव पहचानने से इनकार कर दिया है. हालांकि पुलिस को मानना है कि यह डेडबॉडी जितेंद्र झा की है. उधर इस मामले को लेकर सुपौल के लोग काफी दुखी हैं. खासकर उनके पैतृक गांव बभनगामा में लोग काफी चिंतित हैं. जिसे मामले की जो जानकारी मिल रही है, वे वहां पहुंच रहे हैं. घर में मां व पिता ​की हालत खराब है. परिजनों में चीत्कार मचा हुआ है. मामले की जानकारी मिलते ही कई रिश्तेदार दिल्ली के लिए निकल पड़े हैं. जब तक परिजन बॉडी को नहीं पहचानते हैं तब इस मामले में पुलिस भी कुछ कहने से बच रही है. परिजन यही मना रहे हैं कि वे सकुशल हों और उनके साथ कोई अप्रिय घटना नहीं हो.

लोगों की मानें तो जितेंद्र कुमार झा के बभनगामा गांव स्थित घर में उनके उनकी मां व पिता रहते हैं. जितेंद्र के पिता दर्प नारायण झा व उनकी मां बिमला देवी हार्ट के पेशेंट हैं, ऐसे में उन्हें किसी तरह की जानकारी नहीं दी जा रही है. लेकिन उन्हें बेटे के लापता होने की जानकारी है. इसे लेकर उनकी हालत खराब है. गांव वालों के अनुसार सुपौल निवासी जितेंद्र झा तीन भाई-बहनों में छोटे हैं. वे काफी सरल स्वभाव के हैं. उनके बड़े भाई अमरेंद्र झा कस्टम विभाग में कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं. वहीं उनकी बहन दोनों भाइयों से छोटी है.



गांव वालों के अनुसार आईएएस जितेंद्र झा की शादी नेपाल के सेखरा गांव में हुई थी. उन्हें दो बच्चे हैं, एक लड़का और एक लड़की. दोनो जुड़वां हैं. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार आईएएस जितेंद्र कुमार झा नई दिल्ली के द्वारका इलाके से लापता हो गए थे. वे 3 दिन पहले मॉर्निंग वाक पर घर से निकले थे, उसके बाद वापस नहीं लौटे. वे प्रतिदिन मॉर्निंग वाक को जाते थे. घटना की जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस उसकी छानबीन में जुट गयी थी.

इसी बीच मीडिया रिपोर्ट के अनुसार खबर आयी कि आईएएस अफसर जितेंद्र कुमार झा की डेडबॉडी मिली है. उनकी डेडबॉडी दिल्ली के पालम विहार रेलवे ट्रैक पर मिली है. पुलिस का मानना है कि यह डेडबॉडी उन्हीं की है, लेकिन जब तक फैमिली मेंबर्स कुछ नहीं कहते हैं तब तक पुलिस पदाधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं. हालांकि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार द्वारिका के डीसीपी शिबेस सिंह की मानें तो शव के पास एक सुसाइड नोट मिला है. पुलिस इस केस के साथ ही सुसाइड नोट की बारीकी से जांच कर रही है. मामले की हर बिंदु पर जांच की जा रही है. जल्द ही खुलासा हो जाएगा.

पत्नी भावना झा के साथ आईएएस जितेंद्र कुमार झा (फाइल फोटो)

गौरतलब है कि आईएएस जितेंद्र के लापता होने पर उनकी पत्नी भावना झा ने आरोप लगाया है कि सरकार ने एचआरडी मिनिस्ट्री में तैनाती से पहले चार साल में उनका छह बार ट्रांसफर किया. इस कारण वह काफी दबाव में थे. आईएएस जितेंद्र की पत्नी किडनैपिंग की भी आशंका जता रही है. पत्नी के अनुसार आईएएस जितेंद्र कुमार झा एचआरडी मंत्रालय से पहले मिनिस्ट्री ऑफ इंन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग, मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस, मिनिस्ट्री ऑफ लेबर, हेल्थ और सीपीडब्ल्यूडी में रहे चुके हैं. ट्रांसफर होने से पहले वे लगातार तीन साल तक होम मिनिस्ट्री में रहे. फिलहाल नई दिल्ली पुलिस के डिस्ट्रिक्ट पुलिस डिप्टी कमिश्नर ने छह टीमों का गठन कर झा की तलाश शुरू कर रही है.

पत्नी भावना झा व बच्चों के साथ जितेंद्र

बिहार के IAS जितेंद्र झा दिल्ली से लापता, अपहरण की आशंका