राजद विधायक पर हमले को लेकर गुस्से में तेजस्वी, नीतीश को सबकुछ कह डाला, धड़ाधड़ किये 9 ट्वीट…

Lalu Prasad, Tejashwi Yadav, RJD, BJP, JDU, HAM लालू प्रसाद, नीतीश कुमार,
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के बेगूसराय जिले में राजद विधायक उपेंद्र पासवान पर हुई फायरिंग के बाद सियासत में गरमाहट आ गयी है. इसे लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर विपक्ष ने हमला तेज कर दिया है. इसे लेकर नेता प्रतिपक्ष व बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने ताबड़तोड़ 9 ट्वीट कर डाले. बता दें कि ​बेगूसराय के बखरी विधायक उपेंद्र पासवान पर कल देर शाम अपराधियों ने फायरिंग की थी. हालांकि घटना में विधायक तो बाल-बाल बच गये, लेकिन घटना में दो लोग जख्मी हो गये. दोनों का इलाज बेगूसराय में चल रहा है.


नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ताबड़तोड़ किये गये नौ ट्वीट में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल भी दागे हैं. वहीं जनता की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठाये हैं. उन्होंने कहा कि यह सब राजद की न्याय यात्रा को रोकने के लिए करवाया जा रहा है. लेकिन राजद के सांसदों, विधायकों, कार्यकर्ताओं पर हमला करा देने से उनकी न्याय यात्रा नहीं रुकने वाली है. बता दें कि तेजस्वी यादव अगले ही सप्ताह बिहार में न्याय यात्रा शुरू करने वाले हैं. तेजस्वी ने नीतीश कुमार को मौनी बाबा भी बताया.

उपेंद्र पासवान के साथ तेजस्वी यादव.

आइए तेजस्वी यादव के ट्वीट पर डालते हैं एक नजर
ट्वीट नंबर 1
दिन-दहाड़े जनादेश का बलात्कार और डकैती से नीतीश जी पेट नहीं भरा जो अब हमारे विधायकों को मरवाने पर आमादा हैं. अभी बखरी से हमारे विधायक उपेंद्र पासवान पर इस चोर सरकार के पाले हुए गुंडों ने खुलेआम ताबडतोड़ गोलियां चला कर जानलेवा हमला किया है.

ट्वीट नंबर 2
अभी हमारे विधायक उपेंद्र पासवान पर गोलियों की बौछार की गयी. उपेंद्र जी को गोली नहीं लगी, लेकिन उनके साथ बैठे हुए दो साथियों के पेट और पैर पर गोलियां लगीं. हमलावर फ़िल्मी अंदाज में हवा में firing करते हुए bikes पर भाग गए. नीतीश कुमार ऐसे हादसों पर मौनी बाबा बन जाते हैं.

ट्वीट नंबर 3
मैं देशवासियों को बताना चाहूंगा कि विगत जुलाई में जनादेश का क़त्ल करने के बाद से हमारे चौथे विधायक पर धमकी के बाद जानलेवा हमला हुआ है. नीतीश कुमार चोरी की कुर्सी बचाने के चक्कर में काला लबादा ओढ़कर कुर्सी से चिपक गए हैं.

ट्वीट नंबर 4
जैसा राजा वैसा प्रशासनिक तंत्र. जनादेश की डकैती के बाद पूरा प्रशासनिक अमला सचमुच डकैतों सा व्यवहार पर उतर आया है. कानून व्यवस्था पर मीडिया की एडिटिंग कर स्थिति में सुधार नहीं आएगा. अगर चुनावी राजनीति में अब भी आस्था बची हो तो कर लें दो दो हाथ! गोलियां चला कितनों को मरवा पाइएगा?

ट्वीट नंबर 5
नीतीश कुमार में कानून व्यवस्था की घटिया होती स्थिति सुधारने की काबिलियत नहीं तो नैतिकता और समाज सुधार की बात किस मुंह से करते हैं? ख़बर Edit व कंट्रोल करने के बजाय अपने गुर्गों को कंट्रोल करें, विपक्ष पर गुंडे इस्तेमाल करने की हिम्मत ना करें, जनता मूर्ख नहीं!

ट्वीट नंबर 6
नीतीश कुमार ख़ुद बिहार सरकार द्वारा दिए गए 350 SSG गार्ड, 10 बुलेट प्रूफ़ कार, केंद्र द्वारा दी गई Z प्लस सुरक्षा, CRPF और विपक्ष की सारी सुरक्षा लिए हुए हैं. अच्छी बात है लेकिन विपक्षी नेताओं की सुरक्षा और उनपर हमले की ज़िम्मेवारी कौन लेगा नीतीश कुमार जी?

ट्वीट नंबर 7
जिस सूबे के CM पर ख़ुद संगीन हत्या का गंभीर मामला हो उससे आप दूसरों की सुरक्षा की उम्मीद क्या कर सकते है? विगत दशक मे विज्ञापन की blackmailing कर मीडिया से अपराध और लूट की ख़बरे दबवाकर सुशासन बाबू बने नीतीश कुमार अब सोशल मीडिया के जमाने मे सुशासन बाबू बनकर दिखाये?

ट्वीट नंबर 8
नीतीश जी,अगर आप सोचते है कि अपने पालतू और प्रशासन प्रायोजित गुंडों से राजद के विधायकों, कार्यकर्ताओं व समर्थकों को मरवाकर आप तेजस्वी को न्याय यात्रा करने से रोक देंगे तो आप ख़ुद को धोखा दे रहे हैं. माना पुलिस तंत्र 13 साल से आपके कब्ज़े में है, लेकिन हिम्मत है तो चुनावी मैदान में आकर लड़ो.

ट्वीट नंबर 9
नीतीश कुमार के मुंह से क़ानून के राज की बात ऐसी ही है, जैसे कोई यह दावा करे कि हमारी बिल्ली सारे सूबे के चूहों की रखवाली करती है. नीतीश जी आपके तथाकथित कृत्रिम सुशासन में पालतू गुंडे खुली गुंडई और नंगई पर उतर आए हैं. संभालिए इन्हें! 

बेगूसराय में RJD विधायक पर जानलेवा हमला, बेख़ौफ़ अपराधी गोलियां बरसाते भागे