पीएम नरेंद्र मोदी ने नहीं दिया समय तो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, जानिए क्या बात हुई…

लाइव सिटीज, पटना/ दिल्ली : जातीय जनगणना की राजनीति अब दिल्ली की सियासत में पहुंच गई है. आज सोमवार को अभी-अभी जेडीयू का प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मिला. प्रतिनिधिमंडल में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह समेत कई सांसद शामिल थे. अमित शाह से मिलने के बाद ललन सिंह ने मीडिया से बात की और पत्रकारों को मिलने के कारण बताए. लेकिन इस बातचीत से यह भी क्लियर हो गया कि प्रतिनिधिमंडल को पीएम नरेंद्र मोदी ने मिलने का समय नहीं दिया.

दरअसल, जाति आधारित जनगणना को लेकर बिहार में विपक्ष के साथ ही जेडीयू ने भी अपनी आवाज बुलंद कर दी है. खुद मंख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इसके पक्षधर हैं. जेडीयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की 31 जुलाई हुई बैठक में भी जातीय जनगणना की बात जोरदार ढंग से उठी. इसे लेकर जेडीयू सांसदों ने पीएम नरेंद्र मोदी को पहले लेटर लिखा. इसके बाद उनसे मिलने के लिए समय मांगा. लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने समय नहीं दिया.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के बाद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने मीडिया से कहा कि जेडीयू सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने पहले पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए समय मांगा. लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने समय नहीं दिया. उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने को कहा. पीएम के कहने पर हमलोगों ने अमित शाह से मुलाकात की और उन्हें अपना मेमोरेंडम सौंपा. उनसे जातीय जनगणना कराने की मांग की. अमित शाह ने आश्वासन दिया है कि इसे समझ लेते हैं और सरकार से राय लेते हैं. ललन सिंह ने यह भी कहा कि ​देश के लिए जातीय जनगणना बहुत जरूरी है. खास कर बिहार जैसे राज्य के लिए यह और भी जरूरी है.