ATM का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं तो आपके लिए जरूरी खबर, अब पैसा निकालना पड़ेगा महंगा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : एटीएम का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं तो आपके लिए जरूरी खबर. अब एटीएम से पैसा निकालना और अधिक महंगा हो गया है. इसे लेकर शुल्क में कई तरह के बदलाव किए गए हैं. आरबीआई ने अपनी मंजूरी दे दी है. किस दिन से यह प्रभावित होगा, इसे भी निर्धारित कर दिया गया है.

मिल रही जानकारी के अनुसार, भारतीय रिजर्व बैंक ने एटीएम के माध्यम से होने वाले हर वित्तीय लेन-देन पर इंटरचेंज फीस को बढ़ा दिया है. इंटरचेंज फीस 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया गया है. एटीएम निकासी शुल्क की यह बढ़ोतरी नए साल यानी एक जनवरी 2022 से लागू होगी.

इसके अलावा आरबीआई ने किसी भी बैंक के ग्राहकों को हर माह मिलने वाले मुफ्त एटीएम निकासी के बाद ग्राहकों पर लगने वाले शुल्क की अधिकतम सीमा 20 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये करने की भी निर्णय लिया है. बैंकों की ओर से अपने ग्राहकों को हर माह एटीएम से 5 बार मुफ्त कैश निकासी की सुविधा दी जा रही है. रिजर्व बैंक के अनुसार, पिछली बार अगस्त 2012 में एटीएम इंटरचेंज फीस में बदलाव किया गया था.

इसी तरह, केंद्रीय बैंक ने गैर-वित्तीय लेन-देन के शुल्क को 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये कर दिया है, जो इसी साल 1 अगस्त से प्रभावी होगा. बैंकों व एटीएम ऑपरेटर्स पर पड़ने वाली एटीएम डिप्लॉयमेंट लागत और रखरखाव खर्च के साथ सभी हितधारकों व उपभोक्तााओं की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए ये निर्णय लिया गया है. बता दें कि ग्राहकों से दूसरे बैंक के एटीएम से हर माह मेट्रो शहरों में तीन बार और गैर मेट्रो शहरों में पांच बार ट्रांजैक्शन पर कोई चार्ज नहीं लिया जाता है. इसके बाद के ट्रांजैक्शन पर चार्ज लगता है. ऐसे में अगर इस सीमा से ज्यादा आपने ट्रांजैक्शन किया तो महंगा पड़ेगा.