रौनक मर्डर केस में पटना के 10 अफसरों की SIT बनाई IG ने, मनु महाराज लीड करेंगे

श्रृंगार दुकान में जांच करते IG नैयर हसनैन

लाइव सिटीज, पटना : प्रोपर्टी डीलर सुधीर कुमार के बेटे रौनक की किडनैपिंग और मर्डर केस की जांच फिर से शुरु होगी. वारदात के हर एक पहलू की जांच की जाएगी. शुरुआत से लेकर अब तक हर एक एंगल को खंगाला जाएगा. इस मामले में सबूतों के आधार पर जिस किसी का नाम सामने आएगा, पटना पुलिस उसे बख्शने वाली नहीं है. ये बात आज मंगलवार को पटना के जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खान ने पूरी तरह से साफ कर दिया है.

दरअसल, 16 साल के रौनक की किडनैपिंग और फिर निर्मम तरीके से की गई उसकी हत्या को लेकर कुम्हरार इलाके के लोगों में काफी गुस्सा है. इसी वजह से गुस्साए लोगों ने रोड जाम कर हंगामा भी किया था. जोनल आईजी ने इस मामले को गंभीरता से लिया. मंगलवार को जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खान खुद रौनक के घर गए थे. उसके बाद वो उस दुकान में भी गए, जहां रौनक को किडनैप कर रखने के बाद उसकी हत्या की गई थी. आईजी के साथ सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार और एसएसपी मनु महाराज भी थे.

सुधीर कुमार के श्रृंगार दुकान की जांच करते IG और DIG
ठोस कार्रवाई का दिया है भरोसा

घर पहुंचने के बाद पूरे मामले को लेकर रौनक के पिता से बात हुई. सुधीर कुमार ने काफी सारी बातें आईजी और डीआईजी को बताया. पूरी फैमिली ने इंसाफ की गुहार लगाई. इस पूरे मामले पर जोनल आईजी ने अपना रूख साफ कर दिया है. उन्होंने कह दिया है कि रौनक की किडनैपिंग और मर्डर के पिछे जिस किसी का भी हाथ होगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा. सबूतों के आधार पर ठोस कार्रवाई होगी. चाहे कोई कितना भी रसूख वाला क्यों न हो.

एसआईटी करेगी पूछताछ

पूरे मामले की फिर से जांच करने और दोषियों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए जोनल आईजी ने एक स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम का गठन कर दिया है. इस एसआईटी की कमान एसएसपी मनु महाराज को सौंपी गई है. एसआईटी में कुल 10 अधिकारी हैं. जिसमें सिटी एसपी ईस्ट विशाल शर्मा, एएसपी आॅपरेशन राकेश दुबे, एएसपी पटना सिटी हरिमोहन शुक्ला, एएसपी बाढ़ मनोज तिवारी, चौक थाना के थानेदार अशोक पांडेय, स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर सुरेन्द्र कुमार सिंह, सब इंस्पेक्टर विनय प्रकाश और मो. गुलाम मुस्तफा शामिल हैं.

रौनक किडनैपिंग-मर्डर मामले पर और पढ़ें

गौरतलब है कि रौनक को उसके पड़ोसी विक्रान्त उर्फ विक्की ने ही स्कूल जाते वक्त झांसा देकर किडनैप किया था और फिर अपनी पहचान छिपाए रखने की वजह से उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी. लाइव सिटीज ने गुरुवार 18 जनवरी की रात सबसे पहले यह खबर बताई थी. शुरूआती जांच में ही पुलिस ने विक्की को अरेस्ट कर लिया था. अब फैमिली वालों को आरोप है कि एक पूर्व विधायक के बेटे इशारे पर सब कुछ हुआ था. एसआईटी अब हर एक प्वाइंट पर पूरे मामले की जांच करेगी और विक्की को रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ करेगी.

देखें Video : पटना के बीएन कॉलेज में ‘डर्टी डांस’

देखें Video : 2019 में लालू फहराएंगे जीत का परचम…

About Amit Jaiswal 962 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*