IG नैयर हसनैन : अनिल सिंह को फरार कराने वाले बख्शे नहीं जायेंगे, चाहे कोई भी हों

IG-NAYYAR-KHAN
IG नैयर हसनैन (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, पटना : औरंगाबाद में थाना से फरार हुए बीजेपी नेता अनिल सिंह की तलाश तेज कर दी गई है. इनकी तलाश में कई जगहों पर छापेमारी की जा रही है. पटना के जोनल आईजी नैय्यर हसनैन खान ने स्पष्ट कर दिया है कि फरार अनिल सिंह को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने यह भी साफ़ कर दिया है कि सबूत मिलने पर पुलिस किसी को भी नहीं बख्शने वाली है. चाहे वो कोई भी हो.

आपको बता दें कि रामनवमी के दिन औरंगाबाद जिले के शांतिपूर्ण माहौल को खराब किया गया था. उपद्रवियों ने दुकानें जलाई थीं और तोड़फोड़ की थी. एहतियात बरतते हुए पुलिस टीम ने सबसे पहले खराब माहौल को अपने काबू में किया.



आम जनजीवन को पटरी पर लाने की कोशिश हुई. प्रशासन की ये कोशिश कामयाब भी हुई. इसके बाद पुलिस टीम उपद्रव मचाने वालों के तलाश में जुटी. जिसमें अनिल सिंह का नाम सामने आया. इसे गिरफ्तार भी किया. लेकिन कुछ ही समय बाद सबको चौंकाते हुए शातिर अनिल सिंह गिरफ्तारी के बाद थाना से भाग निकला. वो अब तक फरार है.

मददगार पुलिस वालों की हो रही पहचान

ये तो तय है कि बीजेपी नेता अनिल सिंह बगैर किसी पुलिस वाले की मदद के थाना से फरार नहीं हुए. पुलिस स्टाफ की मदद मिलने के बाद ही फरार होने की हिम्मत जुटाई होगी. इस बात पर जोनल आईजी ने कहा कि फरार होने में अनिल सिंह की मदद करने वाले पुलिस वालों की पहचान की जा रही है. उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होगी.

नवादा में अभी बंद रहेगी इंटरनेट सेवा

दूसरी ओर नवादा के माहौल पर भी जोनल आईजी अपनी नजर बनाए हुए हैं. हर पल की खबर खुद ले रहे हैं. एहतियात के तौर पर नवादा में इंटरनेट की सेवा अभी कुछ दिन और बंद रहेगी. सुरक्षा और शांति भरे माहौल को बनाए रखने के लिए सीआरपीएफ की एक कंपनी को जमुई से नवादा भेजा गया है. साथ में एसटीएफ की चीता कंपनी भी वहां कैंप कर रही है. पटना से भेजी गई 300 पुलिस फोर्स वहीं कैप कर रही है.

सबूत मिलते ही होगी कार्रवाई

औरंगाबाद हो या नवादा या फिर नालंदा. पटना जोन के इन तीनों जिलों में उपद्रव हुआ. तीनों ही जिलों में उपद्रव मचाने वालों की पहचान हो रही है. औरंगाबाद के मामले में तो वहां के सांसद सुशील सिंह का भी नाम सामने आ चुका है. आरोप है कि उनके भड़काउ भाषण के बाद ही माहौल खराब हुआ. जोनल आईजी ने इस मामले में भी किसी को नहीं बख्शे जाने की बात कही है.