बिहार में सम्राट अशोक पर बवाल, भस्‍मासुर की हुई एंट्री, BJP नेता ने उपेंद्र कुशवाहा पर कसा तंज

लाइव सिटीज पटना: सम्राट अशोक की तुलना औरंगजेब से करने पर एनडीए में घमासान मचा हुआ है. इसको लेकर भाजपा-जदयू आमने-सामने है. वहीं हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM)और अब आरजेडी ने भी मोर्चा खोल दिया है. सम्राट अशोक (Samrat Ashoka) के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने के मामले में बीजेपी की तरफ से लेखक दया प्रकाश सिन्हा (Daya Prakash Sinha) पर मुकदमा किया गया.

सम्राट अशोक प्रकरण को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष डा. संजय जायसवाल द्वारा FIR दर्ज कराने पर जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा करारा हमला बोलते हुए इसे आईवाश बता दिया. कहा कि जले पर नमक मत छिड़किए. अब भाजपा प्रवक्‍ता अरविंद सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा पर हमला करते हुए कहा कि हमने तो प्राथमिकी दर्ज करा दी, अब आप उन्‍हें गिरफ्तार कराइए. अपना पुरुषार्थ दिखाइए.

भाजपा प्रवक्‍ता अरविंद सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा पर निशाना साधते हुए कहा कि कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशाना. कुछ नेता भस्‍मासुरी प्रवृत्ति के होते हैं. यह प्रवृत्ति सामने आ जाती है. उन्होंने चैलेंज देते हुए कहा कि उनके पास गृह मंत्रालय है तो जाकर दया प्रकाश सिन्‍हा को गिरफ्तार कराइए न. अपना पुरुषार्थ दिखाइए. हमने तो केस कर दिया. हमने तो कह दिया कि भाजपा से उनका कोई लेना देना नहीं है.

बता दें कि लेखक दया प्रकाश सिन्हा (Daya Prakash Sinha) के खिलाफ संजय जायसवाल (Dr. Sanjay Jaysawal) द्वारा FIR करने पर जदयू के सीनियर नेता उपेंद्र कुशवाहा ने उनपर करारा प्रहार किया है. उपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट कर लिखा है कि आई वाश मत कीजिए, संजय जी, जले पर नमक मत छिड़किए. सीधे- सीधे एवार्ड वापसी की मांग का समर्थन कीजिए. वरना ऐसे दिखावटी मुकदमा का अर्थ लोग खूब समझते हैं.

बतातें चलें कि सम्राट अशोक (Samrat Ashoka) के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने के मामले में आरजेडी के मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने सम्राट अशोक की तुलना औरंगजेब से करने पर लेखक की जमकर निंदा की है. उन्होंने कहा कि एनडीए के लोग जानते हैं एक दूसरे का किस्सा और सम्राट अशोक के बारे में जो उन्होंने लिखा है वह बहुत ही हास्यास्पद लिखा है और गलत लिखा है. भाई वीरेंद्र ने कहा कि सही बात है वह आई वाश ही कर रहे हैं और कुछ नहीं, ये एनडीए के लोग एक दूसरे का आई वाश करते हैं जनता के साथ भी आई वाश करते हैं.