साहेबपुर कमाल में सीएम का विपक्ष पर तंज, कहा- कुछ लोगों को बस हमारे खिलाफ प्रचार करना आता है

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: सीएम नीतीश कुमार बेगूसराय में जेडीयू प्रत्याशी शशि कांत कुमार के लिए वोट मांगा. साथ ही आरजेडी के नेताओं पर जमकर हमला बोला. इस दौरान नीतीश कुमार के साथ जेडीयू नेता ललन सिंह और एनडीए के कई बड़े नेता मौजूद थे.

सीएम ने कहा कि राज्य में ना तो पहले स्वास्थ्य की बेहतर स्थिति थी, ना ही स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था थी, सड़कें तो थी ही नहीं. उन्होंने कहा कि जब आपने हमें काम करने का मौका दिया तब जाकर चीजों को ठीक करना शुरू किया. उन्होंने आगे कहा कि जब हमने पहले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का सर्वेक्षण कराया तो मालूम चला कि एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक महीने में केवल 39 से 40 मरीज पहुंचते थे. सीएम ने कहा कि हम तो पहले जनप्रतिनिधि भी रह चुके हैं. विधायक और केंद्र मंत्री भी रह चुके हैं. हमें पता है कि बिहार में गरीब ज्यादा रहते हैं. इसके बाद हमने पता कराया तब मालूम चला कि राज्य में लोगों का सबसे ज्यादा पैसा इलाज कराने में जाता है.



उन्होंने कहा कि लोगों को ये लगता था कि ज्यादा पैसा भोजन पर खर्च होता है. लेकिन पैसा तो इलाज में खर्च हो रहा है. इसके बाद हमने फौरन अस्पतालों में बेहतर डॉक्टरों का प्रबंध कराया, दवाइयों का प्रबंध कराया. साथ ही भारी मात्रा में दवाइयों का स्टॉक रखा. ताकि किसी भी मरीज को इससे परेशानी नहीं झेलनी पड़े.

उन्होंने कहा कि अब अंदाजा इसी से लगा लीजिए कि कोरोना में बिहार ही एक ऐसा राज्य है, जहां की रिकवरी रेट सबसे अधिक है. हालांकि इसमें केंद्र सरकार का भी अहम योगदान रहा है. नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग वोट लेने तो आ जाते हैं. लेकिन उन्हें काम से कई सरोकार नहीं है. ये लोग बस राज कर रहे थे. लेकिन किसी को देखते नहीं थे. उन्होंने कहा कि ये गो गरीब के कंधों पर बंदूक रखकर गोली चलाते थे. लेकिन जब से हमने लोगों को जनप्रतिनिधि बनने का मौका दिया तब से अब कोई गरीब किसी नेता को अपना कंधा नहीं देता है.

सीएम नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि कुछ लोग बस बिना मतलब की बातें बोलते रहते हैं. सीएम ने कहा कि सिर्फ मेरे खिलाफ प्रचार करते रहते हैं. उन्होंने कहा कि हमारे खिलाफ जितना प्रचार करना है करते रहिए. उन्होंने कहा कि हम काम करने में विश्वास रखते हैं. हमें प्रचार से कोई मतलब नहीं है.