कोइलवर में नये पुल के दूसरे लेन का हुआ उद्घाटन, पटना से आना-जाना हुआ आसान, महाजाम से मिलेगी मुक्ती

लाइव सिटीज पटना: शाहाबाद और पूर्वांचल समेत अन्य जिलों और राज्यों को बिहार की राजधानी पटना से जोड़नेवाला नया कोइलवर सिक्सलेन पुल का केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज उद्घाटन किया.नितिन गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोईलवर में नये सिक्स लेन पुल के दूसरे लेन का उद्घाटन किया. इस लेन के शुरू होने से अब आरा-पटना के बीच घंटे भर के अंदर दूरी तय होगी. उद्घाटन के दौरान स्थानीय सांसद और ऊर्जा मंत्री आरके सिंह, मंत्री नितिन नवीन समेत कई मौजूद रहे.

कोईलवर के पुराने अब्दुल बारी पुल के समानांतर बने 1.5280 किलोमीटर के छह लेन के पुल के डाउनस्ट्रीम के तीन लेन का निर्माण 266 करोड़ की लागत से हुआ है. अपस्ट्रीम के तीन लेन का उद्घाटन 10 दिसंबर 2020 को ही हो चुका है और उसपर परिचालन भी शुरू है. अब नये पुल के बन जाने से आरा से पटना की 55 किमी की दूरी तय करने में महज एक घंटे से भी कम का समय लगेगा. वहीं महाजाम से भी लोगों को मुक्ती मिलेगी.

बता दें कि इस कार्यक्रम को लेकर बीजेपी के द्वारा पटना के अलग-अलग हिस्सों में पोस्टर लगाए गए थे. इस पोस्टर के माध्यम से इस उद्घाटन कार्यक्रम को सरकार का नहीं बल्कि पूरी तरह BJP का कार्यक्रम बना दिया गया था. इस सरकारी कार्यक्रम के पोस्टर में सीएम नीतीश कुमार कहीं नहीं नजर आ रहे हैं. उन्हें पोस्टर से गायब कर दिया गया था. इस पोस्टर में पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, आरके सिंह की बड़ी तस्वीर लगाई गई थी. वहीं इस पोस्टर में पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा, बिहार के मंत्री नितिन नवीन और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल को जगह दी गई थी. लेकिन सीएम कहीं नहीं नजर आ रहे थे. बाद में विवाद बढ़ने में पोस्टर में सीएम नीतीश को जगह दी गई.

पोस्टर से सीएम नीतीश कुमार का नाम गायब रहने पर मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि जब कोई कार्ड छपता है जो इस कार्यक्रम में शामिल होंगे उनको निश्चित रूप से निमंत्रण रहता है. जब पहले ही उन्होंने अपनी असमर्थता जता दी तो निश्वित रूप से कार्ड में उसका नाम नहीं होगा. वहीं इसको लेकर सवाल उठा रहे विपक्ष पर उन्होंने जमकर निशाना साधा है. नितिन नवीन ने कहा कि जो रात में सोते हैं और सुबह उठते ही उनको ऐसा लगता है कि आज फिर मेरी सरकार बन जाएगी. उनके सपने साकार नहीं होने वाले हैं. रात में सोने से और ड्राइंग रूम में बयानबाजी से सरकार नहीं बनती है.