बच्चों में बढ़ते अपराध को रोकने की पहल, भभुआ सिविल कोर्ट में जागरुकता शिविर का हुआ आयोजन

लाइव सिटीज, ब्रजेश दुबे: भभुआ सिविल कोर्ट में किशोर न्याय अधिनियम 2015 और लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 के विधिक प्रावधानों के संदर्भ में
संवेदीकरण सह जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ. इस कार्यक्रम में जिले के जिला जज, डीएम, एसपी सहित अधिवक्ता शामिलहुए. वहीं जिला जज ने कहा कि लगातार बच्चों पर आपराधिक मामले बढ़ते जा रहा है. जिसे सभी को आगे आना होगा और बढ़ते अपराध को रोकना होगा.

उन बच्चों में ज्यादा आपराधिक मामले देखे जाते हैं. जिनके परिवार अशिक्षित होते हैं. जो बच्चे अपराध कर भी देते हैं, उनको अपराधी के रूप में ना देखा जाए. वहीं डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने बताया कि जिले हर हाल में बच्चों पर हो रहे अपराध को रोकना, हम सबका जिम्मेदारी है.

उन्होंने कहा कि हम सब को जागरूक होकर बच्चों की आपराधिक मामले में शामिल बच्चे और उनके परिवार को जागरूक करेंगे. जिससे ऐसे मामलों में कमी आए. कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद का कहना था कि बाल अपराध को रोकने को लेकर पुलिस दौरा जागरुकता अभियान चलाएगी. जिससे बाल अपराध में कमी हो सके.



बता दें कि बिहार में अपराध का मामला बढ़ता जा रहा है. आए दिन हत्याएं और लूटपाट की घटना घटते रहती है. वहीं बच्चों में भी बढ़ते अपराध को रोकने के लिए लगातार जागरुकता अभियान जारी है.