मुजफ्फरपुर: यौन शोषण मामले में खुदीराम बोस केंद्रीय कारा पहुंची जांच टीम, तहकीकात शुरू

file pic

लाइव सिटीज, सेन्ट्रल डेस्क: पिछले दिनों मुजफ्फरपुर के शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा में महिला बंदियों से हो रहे यौन शोषण की शिकायत के बाद इस मामले को लेकर जांच शुरू हो गई है. इसके लिए डीएम आलोक रंजन घोष द्वारा गठित जांच टीम कारा पहुंची. डीपीएम (आइसीडीएस) ललिता सिंह के नेतृत्व में छह सदस्यीय टीम ने यहां सीसीटीवी फुटेज खंगाला। कई महिला बंदियों से भी जानकारी ली गई।

इस दौरान टीम को सहयोग देने के लिए एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार भी मौजूद थे.टीम डीएम को जांच रिपोर्ट सौंपेगी.इस मामले में डीएम आलोक रंजन घोष ने कहा कि आरोप गंभीर हैं.प्रधानमंत्री कार्यालय से रिपोर्ट मांगे जाने के बाद पांच सदस्यीय टीम जांच कर रही.इसमें जो बातें सामने आएगी उस आधार पर कार्रवाई होगी.

वहीं इस संबंध में जेल आइजी मिथिलेश मिश्रा ने कहा कि महिला बंदी के आरोप की जांच के लिए डीएम को पत्र लिखा गया था.पत्र के आलोक में जांच कराई जा रही है. जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह ने बताया कि जांच टीम जेल में पहुंचकर सभी बिंदुओं पर तहकीकात की और सीसीटीवी कैमरे को भी खंगाला गया. उन्होंने बताया कि सभी का बयान दर्ज किया गया है परन्तु अबतक कोई साक्ष्य नहीं मिला.

गौरतलब है कि एक महिला बंदी ने पत्र लिखकर कहा था कि यहां महिला बंदियों के साथ यौन शोषण होता है. इन्कार करने पर मारापीटा जाता है और खाना भी नहीं दिया जाता है.जो महिला बंदी शारीरिक संबंध बनाने के लिए तैयार होती उसे मोबाइल से बात कराने व अन्य तरह की सुविधाएं दी जाती हैं.पत्र मिलने पर पीएम कार्यालय ने डीएम व राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी थी.

जिस महिला ने पीएम, महिला आयोग, मुख्यमंत्री समेत कई वरीय पदाधिकारियों को पत्र भेजा था वह जमानत पर बाहर निकल चुकी है.इस बीच मामले की खबर मीडिया में आने के बाद राज्य की महिला आयोग ने भी संज्ञान लिया है. संभवत: टीम सोमवार को यहां पहुंच सकती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*