पटना, (अजीत कुमार) :  जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने कहा कि पिछले 6 महीने में पूरे देश भर में 24000 से ज्यादा दुष्कर्म की घटनाएं यह सिद्ध कर रही है कि देश में कानून व्यवस्था की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान सिर्फ खोखला नारा साबित हुआ है.

उन्होंने कहा कि  केंद्र सरकार बच्चियों के सुरक्षा के मामले में पूरी तरह से संवेदनहीन हो चुकी है. इस मामले में कार्रवाई की जगह उदासीन रवैया तथा अपराधियों पर कार्रवाई में कोताही बरती जाती है. जिस कारण बच्चियों से दुष्कर्म की घटनाओं में निरंतर बढ़ोतरी पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्वत: संज्ञान लेने के बाद जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार बेटियों की सुरक्षा पर संवेदनहीन हो चुकी है.

उन्होंने कहा कि कहा देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में ऐसी घटनाएं सबसे ज्यादा हुई है. केंद्र सरकार की कोताही और इस मामले में सुस्त रवैया के कारण ही सुप्रीम कोर्ट को स्वत: संज्ञान लेकर केंद्र सरकार से ऐसे कृत्य के खिलाफ ठोस और स्पष्ट कार्रवाई करने की बातें कही गयी है.

ये भी पढ़ें : पटना के ज्ञान भवन में कौशल महोत्सव, अभिनेता आशीष विद्यार्थी ने किया संबोधित

ये भी पढ़ें : बाढ़ में डूब गया बिहार की चर्चित मुखिया रितु जायसवाल का सिंहवाहिनी पंचायत

एजाज अहमद ने कहा कि  माननीय सर्वोच्च न्यायालय के इस मामले में संज्ञान से देश में लोगों का न्यायालय पर विश्वास और बढ़ेगा, क्योंकि जो सरकारी व्यवस्था है वह पूरी तरह से पंगु हो चुकी है लोगों के विश्वास को धूमिल कर रही है.