जन अधिकार पार्टी ने कृषि अध्यादेश के खिलाफ खोला मोर्चा, फूंका पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश के खिलाफ आज जन अधिकार पार्टी (लो) के नेता व कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर कृषि अध्यादेश के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका और इसे वापस लेने की मांग की. पार्टी के सभी समर्थक आयकर गोलम्बर, पटना पर एकत्रित हुए और कृषि अध्यादेश के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

जाप के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अख़लाक़ अहमद ने कहा कि किसान मौजूदा हालात में आर्थिक व मानसिक संकट से जूझ रहा है और उसे उसकी फसल का वाजिब मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है, लेकिन सरकार नित नये कानून बनाकर किसानों का शोषण कर रही है.



पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एज़ाज अहमद ने कहा कि कृषि अध्यादेश किसानों के लिए काला कानून है. जब तक सरकार इस अध्यादेश को वापस नहीं लेती, तब तक उनका आंदोलन इसी प्रकार जारी रहेगा. जाप के प्रधान महासचिव राजेश रंजन पप्पू ने केन्द्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि किसानों की समस्याओं को देखते हुए इस कृषि अध्यादेश को तत्काल वापस लिया जाये और किसानों को मिलने वाले समर्थन मूल्य भुगतान ब्याज सहित शीघ्र दिया जाये.

पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष राघवेन्द्र कुशवाहा ने पुतला फूंकते हुए कहा कि केंद्र सरकार किसानों को उनकी जमीन से बेदखल करना चाहती है. जाप पार्टी इस काले क़ानून के खिलाफ लगातार प्रदर्शन करती रहेगी. मौके पर जाप के प्रदेश उपाध्यक्ष अवधेश लालू, अकबर अली परवेज, अभय यादव, विमल महतो, नवल यादव, दिलीप यादव, निरंजन, विशाल, सम्मी, नीतीश, रविराज, ज्योति चन्द्रवंशी, आकाश, चन्दन महतो और अरुण सिंह मौजूद थे.