बिहार में गरम है DNA की सियासत, अब उपेंद्र कुशवाहा पर बरस रहे हैं JDU-BJP

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में डीएनए को लेकर एक बार फिर सियासत तेज है. दरअसल एनडीए के घटक दल में शामिल रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने कल मुजफ्फरपुर में नीतीश कुमार के खिलाफ अब तक सबसे बड़ा बयान दे दिया था. उन्होंने नीतीश कुमार से डीएनए रिपोर्ट तक की मांग कर ली. इसके बाद जैसी उम्मीद थी, वैसा ही हुआ. अब उनके खिलाफ जदयू व भाजपा एक साथ खड़े हो गये हैं और उनके नेता बरस रहे हैं.

इसे लेकर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने सोमवार को केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा पर बड़ा हमला कर दिया है. उन्होंने जुबान पर लगाम लगाने की बात कही है. वहीं भाजपा के वरीय नेता केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने उन्हें नसीहत दी है. इसके पहले कल रविवार को जदयू के वरीय नेता व प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा था कि उपेंद्र कुशवाहा बेवजह बयानबाजी कर रहे हैं.

इधर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा पूर्वाग्रह से ग्रस्त हैं, इसीलिए इस तरह के बयान दे रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि जदयू कभी इस तरह का बयान नहीं देता है. जदयू कभी कोई पूर्वाग्रह वाली बात नहीं करता है और न ही भविष्य में करेगा. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सभी चीजों को पॉजिटिव नजरिए से देखती है. इतना ही नहीं, जदयू हमेशा मर्यादा का पालन करता है.

इसी तरह केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा को इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए. उन्होंने कहा कि कुशवाहा जिम्मेदार पद पर हैं. अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. केंद्र में मंत्री हैं. उन्हें नीतीश कुमार के खिलाफ इस तरह बयान देना कहीं से भी अच्छा नहीं लगता है. उन्हें मर्यादा का पालन करना चाहिए. इस तरह की भाषा उन्हें कतई शोभा नहीं देती है.

बहरहाल बता दें कि रविवार को उस समय पॉलिटिकल बखेड़ा शुरू हो गया, जब उपेंद्र कुशवाहा ने मुजफ्फरपुर में आयोजित ‘हल्ला बोल, दरवाजा खोल’ कार्यक्रम में खुले मंच से नीतीश कुमार से डीएनए रिपोर्ट की मांग की. उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार ने हमें नीच क्यों कहा. उन्होंने कहा कि गरीबों की हमेशा मैं बात करता हूं, इसलिए नीच हूं क्या?

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*