लालू ने पूछा – सोना तपाने पर क्या होता है, मिला मजेदार जवाब

लालू प्रसाद, राजद सुप्रीमो(फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, पटना : राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव अभी रांची के होटवार जेल में हैं. चारा घोटाले के एक मामले में आगामी 3 जनवरी को उनपर फैसला आना है. जेल में होने के बावजूद उनका सोशल मीडिया अकाउंट चल रहा है. फेसबुक-ट्विटर पर उनके ऑफिस से अपडेट किये जा रहे हैं. इसकी जानकारी खुद लालू प्रसाद ने ही ट्विटर के माध्यम से दी थी. आज शनिवार 30 दिसंबर को लालू प्रसाद ने एक ट्वीट किया है जिसपर काफी मजेदार रिएक्शन आ रहे हैं.

लालू प्रसाद के ऑफिसियल ट्विटर अकाउंट से आज शनिवार की सुबह ट्वीट किया गया है – सोने को तपाया जाता है तो उसका क्या होता है? इस ट्वीट को खबर लिखे जाने तक तीन घंटे में ही करीब 3000 लाइक्स मिल चुके हैं. 400 से ज्यादा बार रिट्वीट किया गया है. इसपर 1000 से अधिक कमेंट्स भी हैं. लालू प्रसाद के इस ट्वीट पर पोलिटिकल रिएक्शन भी हैं. जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने ट्वीट का जवाब देते हुए सवाल पर सवाल किया है. उन्होंने लिखा है – चारा खाने के बाद रिज़ल्ट क्या आता है ?



इससे पहले आज लालू प्रसाद के बेटे पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी शायराना अंदाज में फिर नया शिगूफा छेड़ा है. उन्होंने लिखा है कि ‘’बदल देंगे उन ताक़तों को जिनसे सत्ता घूमी है…लालू जी के साथ खड़ी ये बिहार की भूमि है’’. तेजस्वी ने लालू प्रसाद पर पहले एक कविता भी पोस्ट की थी. इसमें उन्होंने इमरजेंसी के दौरान हुए देशव्यापी आंदोलन के अगुआ जयप्रकाश नारायण की धरती पर एक बार फिर ‘प्रकाश’ के ‘जय’ होने की बात कही थी. यह भी कहा गया कि ‘सिर्फ बोलेगा नहीं, शेर अब दहाड़ेगा.’

जारी है वार-पलटवार

गौरतलब हो कि फिलहाल लालू प्रसाद रांची में होटवार के बिरसा मुंडा जेल में हैं. सीबीआई की विशेष अदालत ने उनका चारा घोटाला मामले में दोषी ठहराया है. लालू प्रसाद समेत 16 दोषियों पर 3 जनवरी को सजा का एलान होगा. इससे पहले विरोधी लालू प्रसाद पर लगातार हमलावर हैं. इसके साथ ही उनकी फैमिली पर भी जमकर हमले हो रहे हैं. जिसका जवाब भी दिया जा रहा है.

तेजस्वी की दहाड़ – बदल देंगे उनको जिनसे सत्ता घूमी है, लालू के साथ बिहार की भूमि है
लालू पर Viral Poem : जय प्रकाश की भूमि पर फिर प्रकाश की जय होगी
राजद का तीन मोर्चों पर संघर्ष

मालूम हो कि चारा घोटाला के मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को दोषी ठहराये जाने के बाद पार्टी अब पूरी तरह संघर्ष की मुद्रा में है. राजद का संघर्ष एक साथ तीन मोर्चों पर चलेगा. राजद लालू प्रसाद पर 3 जनवरी को आनेवाले फैसले के बाद उपरी अदालत में अपील करेगी. साथ ही जनता के बीच भी जायेगी. इसके अलावा राजद ने सोशल मीडिया पर अपना संघर्ष तेज कर दिया है. राजद ने लालू प्रसाद को लेकर कविताई बयानों से विरोधियों पर हमला शुरू किया है. इसकी बानगी उनके बेटे पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के ट्वीट में भी दिख रही है.