जीतनराम मांझी का नया पैंतरा, लोकसभा चुनाव में महागठबंधन से मांगी हैं आधी सीटें

jitanram-manjhi
जीतनराम मांझी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेेस्क : बिहार में एनडीए में जहां जदयू के प्रशां​त किशोर वाले कदम से भाजपा की अंदरुनी बेचैनी बढ़ गयी है. वहीं अब महागठबंधन में हम के मुखिया जीतनराम मांझी ने नया पैंतरा चलकर राजद व कांग्रेस की टेंशन बढ़ा दी है. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने रविवार को हुई हम की बैठक मेें लोकसभा चुनाव को लेकर जबर्दस्त मांग कर दी है.

मिल रही जानकारी के अनुसार महागठबंधन के घटक दल हम की रविवार को बैठक हुई. पटना में हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में जिस ढंग से जीतनराम मांझी ने सीटों को लेकर अपनी आवाज बुलंद की है, इसकी तो किसी को कतई उम्मीद नहीं थी. उन्होंने बिहार की कुल 40 लोकसभा सीटों में आधे यानी 20 सीटों पर दावा ठोक दिया है.

हम की बैठक में परिषद के सदस्‍यों ने पूर्व मुख्यमंत्री व पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी से बिहार में लोकसभा की 20 सीटों पर दावेदारी पेश करने की मांग की. इसे लेकर काफी देर तक विमर्श हुआ. तमाम सदस्यों के साथ मनन भी हुआ. इसके बाद जीतनराम मांझी ने मीडिया को संबोधित किया.

उन्होंने दो टूक कहा कि बैठक में सदस्यों ने अपनी राय रखी है. बिहार में आधी सीटों पर हम को टिकट देने की मांग की है. उन्होंने कहा कि हम की मांग है कि आबादी की हिसाब से सभी जातियों को आरक्षण मिले. इसी तरह महागठबंधन में भी हम को आधी सीटें मिले. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि महागठबंधन की बैठक में सीटों को लेकर फैसला होगा.

उधर जीतनराम मांझी के इस दावे के बाद महागठबंधन में भी हलचल तेज है. लेकिन, इसे लेकर अभी तक न तो राजद सामने आया है और न ही कांग्रेस की ओर से ही कोई बयान आया है. गौरतलब है कि राजद महागठबंधन का सबसे बड़ा घटक दल है. वहीं मांझी ने इसके पहले कई बार बयानों में कहा है कि महागठबंधन का नेता तेजस्वी यादव हैं. बहरहाल राजनीतिक गलियारे में यह कहा जा रहा है कि किसी को मांगने में क्या जाता है. असली फैसला तो तब होगा, जब महागठबंधन के नेताओं की बैठक होगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*