जीतनराम मांझी का दोहरा तंज : चुनावी मोड में नीतीश तो दलितों को भरमा रहे हैं रामविलास

Jitan-Ram-Manjhi-620x400
जीतन राम मांझी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी गुरुवार को पूरे तेवर में नजर आये. पटना में उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर गोले बरसाए. उन्होंने शराबबंदी पर भी निशाना साधा. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि नीतीश कुमार पूरी तरह चुनावी मोड में आ गए हैं, इसलिए शराबबंदी में संशोधन की बात कर रहे हैं. वहीं रामविलास पासवान दलितों को भरमाने में लगे हुए हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि दलितों के ऊपर अत्‍याचार बढ़ गए हैं. कोरेगांव के लोगों को नक्सली के रूप में प्रताड़ित किया जा रहा है. अपनी मांगों को उठाने वाले दलितों को लोग नक्सली कह देते हैं, लेकिन इसकी चिंता किसी को नहीं है. केंद्र सरकार दलितों पर हो रहे अत्‍याचार को रोकने के लिए किसी तरह का कदम नहीं उठा रही है.

बिना यूपीएसएसी के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी बनाने के केंद्र सरकार के फैसले पर भी हम के मुखिया मांझी ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एक संवैधानिक संस्था के साथ छेड़छाड़ कर रही है. शिड्यूल कास्ट के लोग केंद्र के इस फैसले से आहत हैं.

उन्होंने बिहार में शराबबंदी को तालिबानी कानून बताते हुए कहा कि सरकार जनता से माफी मांगकर इसे खत्‍म करे. लोग मद्य निषेध और बालू कानून को वापस करना चाहते हैं. इससे न केवल पिछड़े समाज के लोगों आर्थिक रूप से नुकसान पहुंच रहा है, बल्कि उनके रोजगार पर भी संकट छा गया है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार पूरी तरह चुनावी मोड में आ गए हैं. अन्य जातियों को शिड्यूल कास्ट में शामिल करने में लगे हुए हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*