नीतीश के इस मंत्री ने कह दिया है, ‘किसी अच्छे डॉक्टर से दिखाएं कुशवाहा, काम नहीं कर रहा माथा’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : नीच और डीएनए को लेकर बिहार एनडीए में शुरू हुआ विवाद दीपावली जैसे दिन में भी तूल पकड़े हुए है. इसे लेकर रालोसपा प्रमुख व केंद्रीय राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा पर जदयू पूरी तरह गरम है. सियासी हमले लगातार जारी है. भाजपा भी पहले से उनके खिलाफ हमला कर रही है. बता दें कि इशारों ही इशारों में नीतीश कुमार द्वारा ‘नीच’ कहने पर उपेंद्र कुशवाहा काफी मर्माहत हैं और इसे लेकर उन्होंने नीतीश कुमार से अपनी ​डीएनए रिपोर्ट देने दिखाने को कहा था.

उपेंद्र कुशवाहा के इस बयान के बाद मामला तीसरे दिन भी गरम है. नीतीश सरकार में शामिल मंत्री खुर्शीद आलम ने दीपावली के मौके पर उपेंद्र कुशवाहा पर ‘बम’ की तरह हमला किया है. उन्होंने कुशवाहा को मानसिक रोगी बताया है. उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार से उनकी कोई तुलना ही नहीं है. नीतीश कुमार के समक्ष कुशवाहा कुछ भी नहीं है. नीतीश कुमार तो आकाश हैं. वे पारस पत्थर हैं.

मंत्री खुर्शीद आलम ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा का मानसिक संतुलन खो गया है. उन्हें किसी अच्छे डॉक्टर से इलाज कराने की जरूरत है. उनका माथा काम नहीं कर रहा है. मंत्री ने एक चैनल से बात करते हुए यह भी आरोप लगाया कि उपेंद्र कुशवाहा के वल मीडिया में बने रहने के लिए अर्नगल बयान देते रहते हैं.

दरअसल बिहार एनडीए में उस समय मामला गरम हो गया, जब मुजफ्फरपुर में 4 नवंबर को रालोसपा की ओर से आयोजित हल्ला बोल दरवाजा खोल कार्यक्रम में उपेंद्र कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से डीएनए रिपोर्ट मांग ली. इसके बाद तो एनडीए नेताओं की ओर से कुशवाहा पर चौतरफा हमला हो गया है. जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और प्रवक्ता नीरज कुमार के अलावा केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा से ऐसी उम्मीद नहीं थी.

उपेंद्र कुशवाहा को राजद ने दे दिया 5 सीटों का फाइनल ऑफर, कहा- जल्द निर्णय लें

बता दें कि मुजफ्फरपुर में कार्यक्रम के एक दिन पहले इंडिया टुडे SoS Bihar के मंच पर राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिरकत की थी. कार्यक्रम में बातचीत के दौरान नीतीश कुमार रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा पर पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब देने से बचते रहे. ‘आजतक’ ने जब उनसे सवाल किया कि उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आप 2020 में कुर्सी का पद छोड़ रहे हैं तो नीतीश ने इस सवाल का कोई सीधा जवाब तो नहीं दिया. इसके बदले उन्होंने बातचीत का स्तर ऊंचा रखने की बात कही.

नीच शब्द से आहत हैं उपेंद्र कुशवाहा, अमित शाह को सुनाएंगे अपनी पीड़ा

इतना ही नहीं, मंगलवार को दिल्ली जाने से पहले रालोसपा प्रमुख व केंद्रीय राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार में मीडिया से कहा कि वे इस मामले को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के पास पहुंचाएंगे. उनसे मुलाकात कर अपनी बात रखेंगे. यदि उनसे मुलाकात नहीं हुई तो वे अमित शाह को पत्र लिखेंगे. उन्होंंने कहा कि जब तक नीतीश कुमार अपनी बात को वापस नहीं लेंगे, हमारी बेचैनी बढ़ी रहेगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*