कुशवाहा को है कुर्सी का मोह, इसलिए नहीं छोड़ रहे हैं एनडीए : शिवानंद तिवारी

Upendra-Kushwaha-and-shivanand
Upendra-Kushwaha-and-shivanand Tiwary

लाइव सिटीज, सेट्रल डेस्क: केन्द्रीय मंत्री और रालोसपा के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा अपनी ही संगठन के दानों पार्टियों के खिलाफ जमकर बोल रहे हैं. कुशवाहा लागातार केन्द्र की बीजेपी सरकार और बिहार के सीएम नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू पर हमलावर हैं. इस सब के बीच महागठबंधन में भी उन्हे लेकर अलग ही तरह के विचार बन रहे हैं. राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कुशवाहा को उनकी स्थिति स्पष्ट करने को कहा है.

कुशवाहा को है कुर्सी का मोह

बिहार की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने केन्द्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा पर हमला बोलते हुए उन्हे कुर्सी का मोह करने वाला कहा है. तिवारी ने कहा कहा कि उन्हें कुर्सी की लालच है और इसी को लेकर वे राजग नहीं छोड़ना चाहते हैं. आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कुशवाहा की ओर से उनके व्यक्तव्य के अनुसार उनका मूवमेंट नहीं दिख रहा है.

 

कुशवाहा के याचना नहीं रण करने वाले बयान पर सवालिया निशान लगाते हुए शिवानंद ने कहा कि उनके इस बयान लक्षण उनमें नहीं दिख रहा है. उन्होंने कहा कि वह मंत्री पद की लालच में दिख रहे हैं. मंत्री पद की कुर्सी की वजह से वह एनडीए नहीं छोड़ना चाहते हैं. कुशवाहा के बर्ताव को तिवारी ने ‘अनैतिक’ बताते हुए कहा कि कुशवाहा जो कुछ कर रहे हैं, उससे वह अपना कद ही छोटा कर रहे हैं.

कुशवाहा के बर्ताव से लोग भ्रम में हैं

शिवानंद ने एक बार फिर से कुशवाहा को जल्द से जल्द फैसला लेने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनकी खुद की प्रतिष्ठा धूमिल हो जाएगी. तिवारी ने कहा कि उन्होंने जो स्थिति पैदा कर दी है, उससे लोग भ्रम की स्थिति में हैं. लोग अब उनके रवैये को कुर्सी का लालच बता रहे हैं.

कुशवाहा के एनडीए में बने रहने पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि वे अच्छी तरह से जानते हैं कि एनडीए में उनकी जगह नहीं है, वहां उनका अपमान हो रहा है, फिर भी वे राजग में क्यों बने हुए हैं? तिवारी ने कहा कि कुशवाहा केंद्र और राज्य सरकार पर विभिन्न मुद्दों को लेकर अपनी भड़ास भी निकाल रहे हैं और कह भी रहे हैं कि मई तक मंत्री पद पर भी बने रहेंगे.

आपको बताते चले कि केंद्रीय मंत्री कुशवाहा ने कल गुरुवार को मोतिहारी में पार्टी के खुले अधिवेशन में भाजपा और बिहार के मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि बिहार बीजेपी के नेताओं ने नीतीश कुमार के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*