श्रमिक संगठनों को लॉकडाउन में प्रदर्शन करना पड़ा महंगा, माले विधायक समेत 5 पर केस दर्ज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कल लॉकडाउन के बावजूद श्रमिक संगठनों ने मजदूरों की मांगों को लेकर विरोध मार्च निकाला था. माले नेताओं पर कोतवाली थाना में केस दर्ज किया गया है. माले विधायक महबबू आलम, सीपीआी के राज्य सचिव सत्यनाराय़ण सिंह समेत पांच नेताओं को नामजद किया गया है और कई अज्ञात लोगों एफआईआर दर्ज किया गया है.

बता दें कि कल माले नेता हाईकोर्ट के पास अंबेडकर मूर्ति के पास तख्ती लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. श्रमिक संगठन के सैकड़ों नेता नियोजन भवन के पास जुटे और नारेबाजी की. इन लोगों के खिलाफ लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन और प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रदर्शन करने के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है.

माले और अन्य वामपंथी संगठन के नेता और कार्यकर्ता आठ घंटे के काम को बढ़ा कर 12 घंटा किए जाने का विरोध कर रहे थे. सभी ने आरोप लगाया की श्रम कानून का सरकार गला घोंट रही है, लेकिन यह नहीं चलेगा. इस आदेश को वापस लिया जाना चाहिए. सोशल डिस्टन्सिंग को ताख पर रखकर एक साथ सैकड़ों श्रमिक संगठन के लोग सड़क पर निकल गए थे. एक तरफ लॉक डाउन में पुलिस लोगों को बाहर निकलने से मना कर रही थी. तो वहीं दूसरी तरफ लोग नियमों की धज्जियां उड़ाते नज़र आ रहे थे. सूचना मिलते ही पुलिस आनन-फानन में वहां पहुंची और प्रदर्शन कर रहे नेताओं को हिरासत में ले लिया. शाम को इन नेताओं को छोड़ दिया गया.