मजदूरों की कई मांगों को लेकर श्रमिक संगठनों ने निकाला विरोध मार्च

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: लॉक डाउन के बावजूद श्रमिक संगठनों ने मजदूरों की मांगों को लेकर विरोध मार्च निकाला. श्रमिक गठन के सैकड़ों नेता नियोजन भवन जुटे और नारेबाजी की. सभी 12 घंटे के काम का विरोध कर रहे थे. सभी ने आरोप लगाया की श्रम कानून का सरकार गला घोंट रही है, लेकिन यह नहीं चलेगा. इस आदेश को वापस लिया जाना चाहिए.

सोशल डिस्टन्सिंग को ताख पर रखकर एक साथ सैकड़ों श्रमिक संगठन के लोग सड़क पर निकल गए. एक तरफ लॉक डाउन में पुलिस लोगों को बाहर निकलने से मना कर रही थी. तो वहीं दूसरी तरफ लोग नियमों की धज्जियां उड़ाते नज़र आ रहे हैं.

मजदूरों की समस्याओं को लेकर 10 केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने पटना में राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध दिवस निकाला. कर्मचारी यूनियन और स्वतंत्र समूह के आह्वान पर विरोध मार्च निकाला. जिसमें वाम दल के कई संगठन सड़क पर प्रदर्शन कर रहे थे. इस बीच श्रम मंत्री और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी की