भगवान नाम वाले विधायक नेताजी की लालू एंड फैमिली से छुट्टी, दूर रहने का निर्देश

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्‍क : यह खबर दिवाली के मौके पर छोड़े जाने वालों पटाखों की तरह आवाज करती आ रही है. लालू एंड फैमिली में अभी कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. 2019 के सत्‍ता संग्राम के पहले ही लालू एंड फैमिली के भीतर बड़ा घमासान मचा है. बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के द्वारा पैदा सुनामी को सभी देख रहे हैं. अब पटाखों की आवाज की तरह बड़ी खबर ये आ रही है कि लालू यादव के हनुमान कहे जाने वाले भगवान नाम वाले नेताजी की इनर सर्किल से छुट्टी हो गई है. भगवान नाम वाले नेताजी नार्थ बिहार के एक जिले से एमएलए भी हैं.

भगवान नाम वाले इस विधायक नेताजी को अब लालू यादव से दूर ही रहने को कह दिया गया है. पटना के बंगले से भी शिकायतों की गठरी रांची पहुंचाई गई थी. टिकट आदि का पेंच भी है. दी गई सफाई काम नहीं आई है. पिछले हफ्ते तक ये विधायक नेताजी लालू यादव से संपर्क के सबसे भरोसेमंद माध्‍यम थे.

मिल रही जानकारी के मुताबिक रांची के रिम्‍स में भर्ती लालू यादव ने भी विधायक नेताजी को दूर रहने को कह दिया है. तरह–तरह की चर्चाएं फैल रही हैं. विधायक नेताजी को दूर किए जाने की सूरत में लालू यादव से संपर्क का नया माध्‍यम कोई रंजन नामक व्‍यक्ति बना है, जो लंबे अर्से से सेवा करता आ रहा है. मतलब रंजन को तरक्‍की मिल गई है.

विधायक नेताजी को इनर सर्किल से मिली छुट्टी पर राजद के कई नेता भी आश्‍चर्य कर रहे हैं. दरअसल, पिछले कई सालों से ये लालू यादव के सबसे भरोसेमंद रहे हैं. कर्मचारी से नेताजी बने इनके संदेशे को लालू यादव का निर्देश ही माना जाता रहा है.

इधर के दिनों में जब से लालू यादव जेल और अस्‍पताल के फेर में हैं, सबसे अधिक सेवा की भूमिका में ये विधायक नेताजी ही दिखते थे. मीडिया भी कोई बात कंफर्म करने को इन्‍हें ही तलाशता था. पर, अब सब कुछ से दूर कर दिए गए हैं. खबर है कि पटना में मैडम मतलब राबड़ी देवी भी खफा हैं.

इनर सर्किल से आउट किए जाने के बाद ये विधायक नेताजी सिर्फ एक दिन जिस दिन तेजप्रताप यादव ने तलाक की अर्जी का तूफान खड़ा किया, पावर हाउस में देखे गए हैं. निर्देश ये है कि बिना कॉल के न आवें. वैसे ये लालू एंड फैमिली के इतने बड़े राजदार हैं कि कंफ्यूजन खत्‍म कर फिर से कब वापस बुला लिए जाएं, कोई नहीं जानता.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*