लालू प्रसाद बोले- बहुत याद आएंगे अटल जी, विरोधियों से भी करते थे शालीनता से बात

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से बिहार समेत पूरा देश दुखी है. गुरुवार की शाम उन्होंने अंतिम सांस ली. कल बुधवार की सुबह से ही अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत बिगड़ गई थी. पूरा देश चिंता में डूब गया था. बिहार में भी लोग चिंता में थे. गुरुवार को भी दिन से लोग मायूस थे. दुआ कर रहे थे. लेकिन इस बार दुआ का भी असर नहीं रहा. और गुरुवार को अटल बिहारी वाजपेयी ने अंतिम सांस ली. इसे लेकर बिहार में पक्ष हो या विपक्ष सब दुखी हैं. मुंबई में इलाज करा रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने ट्वीट कर दुख जताया है. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव ने भी दुख व्यक्त किया.

लालू प्रसाद ने ट्वीट कर गहरा दुख जताया है. उन्होंने देर शाम ट्वीट कर कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से भारतीय राजनीति में एक युग का अंत हो गया. मैंने एक मित्र और अभिभावक खो दिया है. वाजपेयी जी उस राजनीतिक धारा के आखिरी स्तम्भ थे, जहां परस्पर विरोधी राजनीतिक विचारधारा के लोग सहज और शालीन संवाद कर सकते थे. और हां! गर्व का विषय है कि अटलजी के नाम मे बिहारी भी था. आप बहुत याद आओगे…



उधर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से देश के राजनीति के एक युग का अंत हो गया है. इनके अलावा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव, राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने भी गहरी शोक संवेदना व्यक्त की. राजद नेताओं ने कहा कि अटल जी उच्च कोटि के राजनेता, दार्शनिक, चिंतक और कवि थे. उनके निधन से देश ने एक महान नेता को खो दिया है. ईश्वर उनकी आत्मा को चिर शांति दें.

गौरतलब है कि गुरुवार 16 अगस्त की शाम 5 बजकर 5 मिनट पर उनका निधन दिल्ली के एम्स में हो गया. पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी काफी दिनों से बीमार चल रहे थे. वे बीते 11 जून से ही एम्स में भर्ती थे. करीब 9 हफ्ते तक एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्होंने गुरुवार 16 अगस्त को आखिरी सांस ली. उनके उनके निधन से देशभर में शोक की लहर है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत सभी नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है.