पीयू छात्र संघ चुनाव में सभी वाम दल लड़ेंगे साथ, गठबंधन को लेकर जारी है बातचीत

Untitled-11
Untitled-11

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पूर्व के आॅक्सफोर्ड कहे जानेवाले पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ के चुनाव की तारीखें सामने आ चुकी है. वहीं अब पीयू में छात्र संघ के चुनाव को लेकर अलग—अलग छात्र संगठनों ने चुनावों की तैयारियां भी शुरू कर दी है. इसी बीच पीयू चुनावों को लेकर आज एआईएसएफ ने एक प्रेस वार्ता की है. इस वार्ता में एआईएसएफ ने एवीबीपी के महानगर अध्यक्ष एनके झा को हटाने की मांग की है.एआईएसएफ ने कहा है कि जबतक एनके झा डीएसडब्लू के सदस्य रहेंगे तब तक निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकता है.

आॅल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के की प्रेस वार्ता

पटना में आयोजित आॅल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के प्रेस वार्ता में इस बात की जानकारी दी गई कि पीयू छात्र संघ के चुनाव में सभी वामदल एक साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे. वर्ता के दौरान एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने कहा कि उनकी कोशिश है कि चुनावों के दौरान वाम दलों के वोटों का बिखराव नहीं हो. उन्होंने कहा कि सभी सीटों पर बिहार में वामदल जनवादी गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ेंगे.

प्रेस वार्ता के दौरान एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव ने एवीबीपी के महानगर अध्यक्ष एनके झां को dsw- dean students welfare की सदस्यता से हटाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि जब तक वे डीएसडब्लू के सदस्य बने रहेंगे तब तक निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकता. सुशील ने कहा कि एनके झा को इटाने के लिए हम राजभवन का दरवाजा खटखटाएंगे.सुशील ने पत्रकारों को संबोधिक तरते हुए कहा कि चुनावों कि तारीख आनन फानन में घोषित कर दी गई है. उन्होंने कहा कि चुनावों की तारीख में जल्दी के कारण छात्रों से संवाद करने में मुश्किल हो रही है. उन्होंने कहा कि चुनाव जल्दीबाजी में कराया जा रहा है जो गलत है.

चुनावों के  तारीखों की हो चुकी है घोषणा

पटना यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर रासबिहारी ने छात्र संघ चुनाव की तिथि का घोषणा कर दिया है.वीसी रासबिहारी ने जानकारी देते हुए बताया कि छात्र संघ चुनाव 5 दिसंबर को होगा. यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर रासबिहारी ने कहा कि इस चुनाव में लड़ने के लिए 22 नवंबर से फॉर्म मिलेगा. चुनाव के परिणाम 5 दिसम्बर को आ जाएंगे. चुनाव शांतिपूर्ण रूप से करने के लिए पटना प्रशासन का सहयोग लिया जाएगा.

डिग्री विवाद के मद्देजनर पटना विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्र संघ के अध्यक्ष पद पर निर्वाचित दिव्यांशु भारद्वाज के चयन को गलत ठहराया था. कोर्ट ने सुनवाई करते हुए दिव्यांशु के पटना विश्वविद्यालय के पीजी कोर्स में दाखिले को सही ठहराया. इन सभी मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने छात्र संघ को ही भंग कर दिया. जिसके बाद आज चुनाव तिथि का घोषणा किया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*