बिहार में 15 दिन तक लॉकडाउन, पटना में नियम तोड़ने पर पुलिस नहीं छोड़ेगी, जिले की सीमा सील, मॉर्निंग वॉक पर भी लगी रोक

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: पटना में लॉकडाउन तोड़ने वालों की खैर नहीं। राजधानी में लॉकडाउन का पालन सख्ती से किया जाएगा। लॉकडाउन के साथ ही जिले की सीमा सील कर दी गई है। पटना शहर में बैरिकेडिंग का काम रात 12 बजे के बाद शुरू कर दिया गया जो आज सुबह पूरा भी हो गया। लॉकडाउन के दौरान सड़क पर सुबह में मॉर्निंग वॉक करने पर भी रोक लगा दी गई है। 

जिला प्रशासन ने कहा है कि बेवजह पैदल घूमने वालों और निजी वाहन से निकलने पर कार्रवाई होगी। इसके लिए सभी मजिस्ट्रेटों और पुलिस पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि सरकार के आदेश को हर स्तर पर सख्ती से लागू कराएं ताकि कोरोना महामारी की दूसरी लहर को रोका जा सके। बिहार सरकार द्वारा आदेश जारी होने के बाद जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने यह आदेश दिया है।  

जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से पटना जिला बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। पिछले कुछ दिनों से कोरोना से संक्रमित मामलों की संख्या में अप्रत्याशित बढ़ोतरी हुई है। कोरोना से संक्रमित मामलों को नियंत्रित करने एवं बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए गए हैं। सरकार के आदेश का सख्ती से पालन कराया जाएगा। इसके लिए पूरे पटना जिले में धारा 144 के तहत सारी शक्तियों का प्रयोग किया जाएगा। 

डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि पटना में कोरोना संक्रमण की चेन को किसी भी हालत में तोड़ना है। पटनावासियों से उन्होंने अपील की है कि घर में ही रहें और कोविड दिशा-निर्देश का पालन करें। साथ ही लॉकडाउन का पालन करते हुए बेवजह बिल्कुल बाहर नहीं निकलें। उन्होंने बताया कि 50 अतिरिक्त मजिस्ट्रेट तैनात रहेंगे। बुधवार को सुबह सात बजे से ही जिला प्रशासन और पुलिस सड़क पर उतरेगी। वहीं, पटना जिला के बॉर्डर एरिया को सील किया जाएगा। साथ ही शहर के अंदर भी बैरिकेडिंग की जाएगी।