लोकसभा चुनाव : मंगलवार शाम 6 बजे थम गया पहले फेज का प्रचार, ये दिग्गज हैं मैदान में

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का चुनाव प्रचार मंगलवार शाम 6 बजे से थम गया. लोकसभा चुनाव के उम्मीदवार प्रचार नहीं कर सकते हैं. पहले चरण में गया, औरंगाबाद, नवादा और जमुई लोकसभा सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान होना है. पहले चरण के सभी सीटों पर एनडीए और महागठबंधन के बीच आमने-सामने का मुकाबला है.

निर्वाचन आयोग के निर्देशों के तहत मतदान तिथि में मतदान की समाप्ति के समय से 48 घंटे पूर्व प्रचार-प्रसार नहीं किया जा सकता. इसके चलते मंगलवार शाम तक ही प्रचार हुआ. आयोग ने मतदाताओं के लिए वोट देने की सुविधा के उद्देश्य से चुनाव वाले क्षेत्रों में 11 अप्रैल को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है.

चार लोकसभा सीटों पर पहले चरण के चुनाव में 44 उम्मीदवारों के लिए 70.37 लाख मतदाता मतदान करेंगे. नक्सल प्रभावित औरंगाबाद में नौ, गया में 13, नवादा में 13 और जमुई में नौ यानी कुल 44 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं.

गया लोकसभा – यहां से खुद हम पार्टी के मुखिया जीतनराम मांझी चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं, उनको चुनौती देने के लिए NDA ने JDU के विजय कुमार मांझी को मैदान में उतारा है. गया लोकसभा में विजय कुमार मांझी के लिए पीएम नरेंद्र मोदी तो जीतनराम मांझी के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी वोट मांग चुके हैं. यहां लड़ाई कांटे की है.

औरंगाबाद  लोकसभा – सूर्य की नगरी औरंगाबाद में इस बार का मुकाबला काफी रोचक बना हुआ है. क्योंकि इस बार यहां से कांग्रेस का कोई प्रत्याशी मैदान में नहीं है. यूं चुनाव में कुल 9 प्रत्याशी मैदान में उतरे हैं. लेकिन मुख्य मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है. एनडीए से वर्तमान भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह एक बार फिर मैदान में हैं, वहीं महागठबंधन की ओर से हम पार्टी पहली बार यहां से चुनाव लड़ रही है. इसके प्रत्याशी उपेंद्र प्रसाद हैं. उपेंद्र भी पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि सांसद सुशील कुमार सिंह 2009 से लगातार सांसद हैं.

नवादा लोकसभा –  इस संसदीय सीट पर इस बार सीधी लड़ाई लोक जन शक्ति पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल के बीच है. लोजपा की ओर से जहां चंदन सिंह चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं विभा देवी राजद की ओर से चुनाव लड़ रही हैं. दरअसल, यह दो बाहुबलियों की लड़ाई है. चंदन कुमार जहां बाहुबली सूरजभान सिंह के भाई हैं, वहीं राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी हैं. यह लड़ाई सही मायने में सूरजभान सिंह और राजबल्लभ यादव के बीच होगी.

ये भी पढ़ें : चिराग पासवान नहीं जायेंगे जमुई छोड़कर, सोशल मीडिया की अफवाहों का किया खंडन

जमुई लोकसभा – जमुई सीट पर रामविलास पासवान के बेटे और एलजेपी संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट पर उनके खिलाफ आरएलएसपी के भूदेव चौधरी मैदान में हैं. भूदेव चौधरी बिहार आरएलएसपी के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं. साल 2009 के लोकसभा चुनाव में भूदेव चौधरी ने यहां से चुनाव जीता था. उस वक्त वो जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़े थे. लेकिन इस बार वो आरएलएसपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. चिराग पासवान का दावा है कि इस बार फिर जनता उन्हें जिताएगी वहीं आरएलएपी ये दावा कर रही है कि इस बार जनता उनका साथ देगी.

About परमबीर राजपूत 2247 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*